स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दो ट्रेलर भिड़े, चालक-परिचालक केबिन में फंसे, घंटों मशक्कत के बाद वाहन की बॉडी काटकर बाहर निकाला

Varun Kumar Bhatt

Publish: Oct 22, 2019 13:10 PM | Updated: Oct 22, 2019 13:12 PM

Banswara

Road Accident In Banswara : बांसवाड़ा जिले के सदर थाना इलाके की घटना, घायलों को अस्पताल में करवाया भर्ती

बांसवाड़ा. सदर थाना इलाके के कूपड़ा गांव के पास सोमवार रात दो ट्रेलरों के बीच जोरदाऱ भिड़ंत हुई। इसमें दोनों वाहनों के आगे के हिस्से चकनाचूर हो गए और चालक-परिचालक गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें पुलिस और ग्रामीणों की मदद से हॉस्पीटल में भर्ती कराया गया है। हादसा इतना भीषण था कि एक ट्रेलर के चालक-परिचालक तो वाहन में ही फंसे रह गए, जिनको वाहन की बॉडी काटकर दो घंटों की मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया। सदर थाने के एसआई रमेश कटारा ने बताया कि हादसा रात करीब आठ बजे कूपड़ा से करीब एक किलोमीटर दूर मुख्य राजमार्ग पर हुआ। एक ट्रेलर में सीमेंट भरा हुआ था जो प्रतापगढ़ से दाहोद की तरफ जा रहा था। जबकि दूसरे ट्रेलर में कोयले के कट्टे भरे हुए थे और वह दाहोद से प्रतापगढ़ की तरफ जा रहा था। बताया गया है कि दोनों वाहन तीव्रगति में थे। अचानक मुख्य राजमार्ग पर दोनों वाहनों की भिड़ंत हो गई।

आगे के हिस्से पूरी तरह क्षतिग्रस्त : -पुलिस ने बताया कि दोनों वाहनों के आगे के हिस्से पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। इनमें से कोयला से भरे हुए ट्रेलर के चालक-परिचालक को तो निकाल लिया गया और महात्मा गांधी चिकित्सालय में पहुंचाया गया। जबकि सीमेंट से भरे हुए ट्रेलर के चालक-परिचालक वाहन की बॉडी में ही फंसे रहे गए, जिनकों घंटों की मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया। पुलिस ने बताया कि गैस कटर की मदद से टे्रलर की बॉडी को काटा गया। इसके बाद घायलों को बाहर निकाला गया। पुलिस ने एक घायल का नाम पीपलखूंट इलाके के मुडावदा निवासी राजू पुत्र भगवानिया चरपोटा 30 बताया है।

दो घंटे तक अटकी सांसें : -प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सीमेंट से भरे हुए ट्रेलर के चालक-परिचालक खून से लथपथ अवस्था में करीब दो घंटे तक क्षतिग्रस्त बॉडी में फंसे रहे और दर्द से कराहते रहे। पुलिस एवं ग्रामीणों ने टॉर्च एवं मोबाइल के उजाले तथा वाहनों को चालू कर उजाला किया और फिर रस्सियों से बांधकर दोनों ट्रकों की बॉडी को अलग करने के प्रयास किए। वहीं कुछ लोग घायलों को ढाढ़स बंधाते रहे।