स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

माही बांध के पानी से अबतक 50 लाख यूनिट बिजली बनाई, लीलवानी पावर हाउस में भी उत्पादन शुरू

Varun Kumar Bhatt

Publish: Aug 17, 2019 16:38 PM | Updated: Aug 17, 2019 16:38 PM

Banswara

Mahi Dam Banswara : लीलवानी में एक यूनिट शुरू, पानी की आवक बढऩे पर चालु होगी दूसरी यूनिट

बांसवाड़ा. लबालब माही बांध के पानी से बांसवाड़ा में रतलाम मार्ग से सटे पावर हाउस नंबर एक से बिजली उत्पादन 50 लाख यूनिट हो चुका है। इसके अलावा शुक्रवार शाम को लीलवानी स्थित 45 मेगावाट की एक इकाई चालू कर दी गई। हालांकि कागदी से अभी पानी कम ही मिल रहा है, इससे दूसरी यूनिट नहीं चलाई जा सकी है। गौरतलब है कि माही बांध भरने के बाद बीते चार-पांच दिनों से पावर हाउस नंबर एक की 25-25 मेगावाट की दोनों इकाइयों में लगातार बिजली उत्पादन का क्रम जारी है। इसके चलते अब तक 50 लाख यूनिट बिजली बनाई जा चुकी है। विद्युत उत्पादन निगम के अनुसार कागदी बांध की भराव क्षमता को देखते हुए उसी अनुपात में माही बांध से पानी लेकर दोनों इकाइयों को चलाया जा रहा है, जिससे आगे दिक्कत नहीं रहे। जल संसाधन विभाग माही बांध का जलस्तर 281.20 मीटर बनाए रखे हैं।

बेणेश्वर धाम तीन दिनों से टापू, त्रिवेणी में पानी की आवक होने से सम्पर्क कटा, 25 लोग फंसे

इस बीच, लंबे इंतजार के बाद बांयी मुख्य नहर के अवरोध हटाने के बाद कागदी से लीलवानी पावर हाउस के लिए पानी देना शुरू कर दिया गया। इस बारे में लीलवानी पावर हाउस के सहायक अभियंता सीके यादव ने बताया कि शाम चार बजे से एलएमसी से 900 क्यूसेक पानी की आवक होने पर 45 मेगावाट की एक इकाई चालू कर जनरेशन शुरू कर दिया गया। कागदी से दूरी ज्यादा होने और शुरुआत में 300 से 500 क्यूसेक पानी ही आवक के चलते लीलवानी डेम भरने में समय लगा है। अब पानी की आवक और बढऩे पर दूसरी यूनिट चलाना संभव होगा।