स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बांसवाड़ा : बालिकाओं की खेलकूद प्रतियोगिता के लिए संभाग के हर जिले से जुटा रहे 3500 रुपए, खड़े हुए सवाल

Varun Kumar Bhatt

Publish: Nov 22, 2019 14:39 PM | Updated: Nov 22, 2019 14:39 PM

Banswara

Kasturba Girls Residential Schools : 21 हजार की दक्षिणा, अब भामाशाहों की प्रदक्षिणा, समग्र शिक्षा अभियान में बजट को लेकर कोई प्रावधान नहीं

बांसवाड़ा. कस्तूरबा बालिका आवासीय विद्यालयों की बालिकाओं की संभाग स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता में बजट को लेकर उपेक्षा का मामला सामने आया हैं। समग्र शिक्षा अभियान के तहत बजट के प्रावधान तय नहीं होने से प्रतियोगिता जुगाड़ से राशि एकत्रित कर करनी पड़ रही है। साथ ही प्रति जिले से प्रतियोगिता में भाग लेने वाले विद्यालयों से भी बालिकाओं के हिस्से की राशि में कटौती कर 3500 रुपए जमा कराने पड़ रहे हैं। इससे कई सवाल खड़े हो रहे हैं। समग्र शिक्षा करोड़ों का प्रोजेक्ट है। केजीबीवी के संचालन के लिए करोड़ों खर्च भी किए जा रहे हैं, लेकिन संभाग स्तरीय प्रतियोगिता के आयोजन के लिए किसी प्रकार के बजट प्रावधान तय नही हैं। बांसवाड़ा के आमजा के संयोजन में परतापुर में गुरुवार से शुरू प्रतियोगिता में 427 से अधिक बालिकाएं एवं कार्मिकों के लिए तीन दिन तक भोजन सहित अन्य व्यवस्थाएं तय करनी हैं, ऐसे में अब संयोजक भामाशाहों से संपर्क कर बजट का जुगाड़ कर रहे हैं। कस्तूरबा बालिका आवासीय विद्यालयों की प्रति छात्रा के लिए खेलकूद के नाम पर 35 रुपए का बजट जरूर तय है, लेकिन यह राशि स्थानीय स्तर पर खेलकूद पर खर्च होता है। संभाग व राज्य स्तरीय प्रतियोगिता संयोजक जिले को भी इसी राशि में से कटौती कर 3500 रुपए जमा कराना होता है। खेलकूद के लिए स्पष्ट बजट के प्रावधान तय नहीं होने से गड़बड़ी की आशंका से नकारा नहीं जा सकता है। इधर, मामले को लेकर बालिका शिक्षा समसा जयपुर की उपायुक्त स्नेहलता हरित ने कहा कि खेलकूद प्रतियोगिताओं के लिए बजट के प्रावधान के तौर पर जिला स्तर पर 3500 रुपए की राशि आयोजक को जमा कराने का प्रावधान है। यह राशि प्रति छात्रा के हिसाब से किसी न किसी मद से जमा की जाती है। आयुक्त समसा प्रदीप कुमार बोरड ने बताया कि केजीबीवी खेलकूद प्रतियोगिता को लेकर बजट को लेकर आगामी समय में प्रावधान तय करेंगे। अभी तक खेलकूद को लेकर एक तय राशि ली जाती है।

[MORE_ADVERTISE1]

यह है एक केजीबीवी का बजट : - 1650 रुपए प्रति छात्रा दो समय का भोजन मासिक।150 रुपए प्रति छात्रा के लिए नाश्ता मासिक।1200 रुपए प्रति छात्रा टीएलएम व शैक्षिक सामग्री।1500 रुपए प्रति छात्रा व्यवसायिक प्रशिक्षण।2000 रुपए प्रति छात्रा बिजली व पानी व्यय वार्षिक।1500 रुपए प्रति छात्रा मेडिकल सुविधा वार्षिक।1000 रुपए प्रति छात्रा रखरखाव खर्च वार्षिक।200 रुपए प्रति छात्रा पीटीए मीटिंग वार्षिक।10000 रुपए आत्मसुरक्षा प्रशिक्षण वार्षिक।10000 रुपए प्रति विद्यालय भवन मरम्मत वार्षिक।7000 रुपए प्रति केजीबीवी प्रारंभिक शिविर वार्षिक।

[MORE_ADVERTISE2]