स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बांसवाड़ा में भी फैला हुआ है चिटफंड कंपनियों का जाल, कमाई के झांसे में लोगों के करोड़ों रुपए बर्बाद

Varun Kumar Bhatt

Publish: Sep 13, 2019 15:21 PM | Updated: Sep 13, 2019 15:21 PM

Banswara

fraud chit fund companies : बांसवाड़ा में भी फैला हुआ है चिटफंड कंपनियों का जाल, कमाई के झांसे में लोगों के करोड़ों रुपए बर्बाद

बांसवाड़ा. राशि निवेश पर कम समय में अधिक ब्याज का भरोसा देकर आमजन की मेहनत की गाढ़ी कमाई लूटने वाली चिटफंड कंपनियों का जिले में जाल सा बिछा है। हजारों लोग इन कंपनियों के झांसे में अपने करोड़ों बर्बाद कर चुके हैं। इसके बाद भी ठगी का सिलसिला थम नहीं रहा है। हालांकि करीब एक दर्जन से अधिक लोगों ने ऐसी कंपनियों के खिलाफ प्रकरण भी दर्ज कराए, लेकिन कई मामले ऐसे हैं, जिनमें ठगी का शिकार हुए लोग पुलिस तक नहीं पहुंचे हैं।

विश्वास को तोड़ा
आदिवासी बहुल इस इलाके में कई मेहनतकश लोग निर्धारित समय पर एकमुश्त राशि मिलने पर अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति होने की उम्मीद में जमा पूंजी चिटफंड कंपनियों में निवेश करते हैं। गरीब के इसी विश्वास की परवाह किए बगैर कंपनियां उनकी राशि पर डाका डाल रही हैं। अब तक जो भी मामले सामने आए, उनमें जागरूक लोगों ने तो पुलिस में रिपोर्ट दी, लेकिन अधिकांश लुटे बैठे हैं। हालांकि थानों में प्रकरण दर्ज होने के साथ पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी तो कर रही है, लेकिन उनसे वसूली नहीं हो रही है।

प्लॉट खरीदने के लिए ढाई लाख रुपए का कर्जा लिया, रात में चोरों ने घर पर बोला धावा और उड़ा ले गए नकदी और जेवरात

इन योजनाओं से दिया लोगों को झांसा
दैनिक जमा योजना, आवर्ती जमा योजना, मियादी जमा योजना के साथ मासिक एवं वार्षिक निवेश की अनेक योजनाएं चिटफंड कपंनी संचालित कर रही हैं। पहले ग्राहकों को आकर्षक योजना का झांसा दिया जाता है। इसके बाद विभिन्न योजनाओं में मनमाने तरीके से निवेश करवाया जाता है। अधिकाधिक निवेश के लिए स्थानीय लोगों को एजेंट बनाया जाता है। लाखों-करोड़ों के निवेश के बाद रातोंरात कंपनियां फुर्र हो गई और हालात यह है कि निवेश कराने वाले एजेंटों से भी जवाब देते नहीं बन रहा है।

अभावों में की नातिन की शादी
रैयाना निवासी रमाकांत पुत्र कचरू पाटीदार ने बताया कि उसने आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड के झांसे में आकर आरडी एवं अन्य योजनाओं में वर्ष 2013 में निवेश किया। कंपनी प्रतिनिधियों ने 66 माह में उक्त राशि को दोगुना करने का वादा किया। परिपक्वता के समय ही नातिन की शादी धूमधाम से करने का सपना भी संजोया, लकिन कंपनी पर ताला लटक गया और प्रतिनिधियों ने फोन बंद कर लिए। जैसे-तैसे शादी समारोह करना पड़ा।

घर लौट रहे दंपती की बाइक को टक्कर मारकर गिराया, फिर 55 हजार रुपए से भरा बैग लूटकर फरार हो गए 3 बदमाश

कोई सम्पर्क नहीं
सेवानिवृत्त कार्मिक रमेशचन्द्र ने बताया कि उसने आदर्श क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटी में करीब छह माह पहले एक लाख निवेश किया। कंपनी ने डेढ़ साल बाद 18 प्रतिशत की ब्याज दर से रुपया वापसी का वादा किया था। साथ ही 0.02 मिलीग्राम का एक सोने का सिक्का भी दिया था। अब कंपनी प्रतिनिधियों से कोई सम्पर्क नहीं हो रहा है।

इन कंपनियों ने हड़पे
वागड़ क्रेडिट एण्ड इन्वेस्टमेंट कॉ-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड
सनसाइन शॉपी
मणिरत्नम रियल प्राइवेट लिमिटेड
स्वराष्ट्र विनिवेश प्रमोटर्स इण्डिया लिमिटेड
विजन क्रेडिट एण्ड इन्वेस्टमेंट सहकारी समिति लिमिटेड
वागड़ क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटी
सन्मति कॉपरेटिव सोसायटी
आदर्श क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटी
एचवीएन कंपनी, जीएन गोल्ड
डी-धनेश्वरी मल्टीस्टेट कॉ-ऑपरेटिव क्रेडिट सोसायटी लिमिटेड
क्यूनेट, एआरडी निधि