स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बांसवाड़ा : सुकन्या के पैसों के लिए उत्पीड़न, तो बाबुल के घर आकर नवविवाहिता फंदे से लटकी, पीहर पक्ष ने किया हंगामा

deendayal sharma

Publish: Nov 22, 2019 10:48 AM | Updated: Nov 22, 2019 10:48 AM

Banswara

बांसवाड़ा जिले के डूंगरिया गांव में करीब आठ माह पहले ब्याही एक विवाहिता पीहर में फंदे से लटक गई। पीहर पक्ष ने मृतका के पति पर दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा खड़ा कर दिया।

बांसवाड़ा. जिले के डूंगरिया गांव में करीब आठ माह पहले ब्याही एक विवाहिता पीहर में फंदे से लटक गई। पीहर पक्ष ने मृतका के पति पर दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा खड़ा कर दिया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने समझाइश कर मामला शांत कराया और शव को फंदे से नीचे उतार कर पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया। पुलिस ने पति के खिलाफ दहेज हत्या में प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है। घाटोल पुलिस उप अधीक्षक कमलकुमार ने बताया कि सुंदनी गांव निवासी मनीषा का विवाह मार्च 2019 में डूंगरिया निवासी जीतेन्द्र यादव से हुआ। आरोप है कि पति जीतेंद्र शादी के बाद से मनीषा से सुकन्या योजना के तहत मिलने वाली राशि की मांग कर लगातार परेशान करने लगा। कई बार मारपीट भी की। करीब दस दिन पूर्व मनीषा का पिता अपनी बेटी को लेने डूंगरिया पहुंचा। बेटी जब घर आई तो उसने सारी बातें अपने पिता को बताई। इसके बाद उसने अपनी बेटी को सुंदनी नहीं भेजा। बुधवार को मनीषा का पति जीतेन्द्र शराब के नशे में धुत्त होकर सुंदनी पहुंचा और वहां उसने झगड़ा किया। माहौल गरमाने पर परिवार के सदस्यों ने जैसे-तैसे जीतेन्द्र एवं अन्य सदस्यों को शांत किया। रात को जीतेंद्र ससुराल में ही था। गुरुवार सुबह मनीषा ऊपर के कमरे से नीचे आई और चाय पीने के बाद वापस कमरे में जाकर फंदे से लटक गई। इस पर पीहर पक्ष ने जीतेन्द्र पर मनीषा को फंदे से लटकाने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। इस दौरान जीतेंद्र मौके से भाग गया। काफी देर बाद शव को जिला चिकित्सालय लाया गया, जहां पोस्टमार्टम के बाद शव पीहर पक्ष को सौंपा। पुलिस के अनुसार मृतका के पति दहेज हत्या में प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है। घर पर सिर्फ मां पुलिस के अनुसार विवाहिता के फंदे से लटकने की जानकारी मिली उस समय मनीषा की मां ही घर पर थी। उसके पिता नारायण सुबह मिल में नौकरी पर चले गए थे। जीतेन्द्र जब घर से भागा तो मनीषा की मां ने भी उसे रोकने के प्रयास किए, लेकिन वह नहीं रुका। पुलिस के साथ भी हाथापाई! मामले में यह बात भी सामने आई कि जब पुलिस ने पीहर पक्ष को शव सुपुर्द किया और परिजन अंतिम संस्कार की तैयार कर रहे थे तो पुलिस आरोपी मृतका के पति डूंगरिया निवासी जीतेन्द्र पुत्र शांतिलाल को लेकर पहुंची थी। उस समय भी जीतेन्द्र नशे में था। जीतेन्द्र ने ग्रामीणों से गाली गलौच करना शुरू किया तो पुलिस ने वीडियो बनाना शुरू कर दिया था। समाजजनों ने जब रोका तो पुलिस के साथ हाथापाई होने और एक युवक की नाक पर गंभीर चोट भी आने की बात सामने आई है, जिसे एम्बुलेंस की मदद से हॉस्पीटल भी भिजवाया गया। उल्लेखनीय है कि उक्त मामले में दो कागज भी वायरल हुए हैं।

[MORE_ADVERTISE1]