स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Banswara : मां शीतला की पूजा कर चढ़ाया भोग, ठण्डा भोजन कर खोला व्रत

deendayal sharma

Publish: Aug 22, 2019 21:40 PM | Updated: Aug 22, 2019 21:40 PM

Banswara

बांसवाड़ा जिले में गुरुवार को शीतला सप्तमी पर्व भक्तिभाव से मनाया गया। महिलाओं ने मां शीतला की पूजा-अर्चना कर ठंडे का भोग लगाया और परिवार में स्वास्थ्य और समृद्धि की कामना की।

बांसवाड़ा. जिले में गुरुवार को शीतला सप्तमी पर्व भक्तिभाव से मनाया गया। महिलाओं ने मां शीतला की पूजा-अर्चना कर ठंडे का भोग लगाया और परिवार में स्वास्थ्य और समृद्धि की कामना की। सुबह से ही शीतला मंदिरों में दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। कई महिलाओं में शिवालयों और पीपल के पेड़ों के नीचे पूजा-अर्चना की।

चिडिय़ावासा, बडग़ांव, बड़लिया, अरनिया, घलकिया, मोरडी, चंदूजी का गड़ा, सुन्दनी, टिम्बा गामड़ी, टाटिया आदि गांवों में पर्व मनाया गया।

तलवाड़ा. द्वारिकाधीश व गोकर्णेश्वर महादेव मंदिर परिसर स्थित शीतला माता मंदिर में व्रत धारी महिलाओं ने कातोर माता की पूजा की और संतान की खुशहाली और परिवार की समृद्धि की कामना की। महिलाएं मंगल गीत गाती हुई हाथों में पूजन की थाल लेकर पहुंची। पातेला तालाब के किनारे व खेतों में स्थित वनस्पतियों की पूजा की।
बडोदिया. महादेव मन्दिर परिसर में सुहागनों ने परिवार की सुख समृद्धि की प्रार्थना की। एक दिन पूर्व में बने भोजन ग्रहण कर अपने वृत का उद्यापन किया। मन्दिर के पुजारी दिलीप सेवक ने पूजन किया।
गंागड़तलाई. महिलाओं ने पूजा किया और माता को ठंडे का भोग लगाया। सल्लोपाट सहित अन्य क्षेत्रों में भी पर्व मनाया गया।
सरेड़ी बड़ी. महिलाओं ने पूजा अर्चना कर एक दिन पूर्व का बना भोजन करके श्रध्दा पूर्वक पर्व मनाया। भुदर्रा तालाब की पाल पर नीलकंठ महादेव मंदिर परिसर में कातर माता की पूजा कर कथा एवं आरती की गई।खोडऩ. शीतला माता मन्दिर में सुजाजी का गढ़ा मन्दिर में दर्शन करने को भीड़ रही। अमित पण्ड्या ने प्रतिमा की आकर्षक सजावट की। बरोडिया व खोडऩ में मंदिरों में सुख-समृद्धि की कामना की गई।
पालोदा. पालोदा, लसाड़ा, मेतवाला, कोटडा, आसोड़ा में भी पर्व मनाया गया। खोडियार माता मंदिर में महिलाओं ने कथा श्रवण कर परिवार की खुशहाली की कामना की।पीपलखूंट. कस्बे में महिलाओं ने ठण्डा भोजन कर व्रत खोला।
बागीदौरा. महिलाओं ने शिव मंदिर परिसर स्थित पीपल के वृक्ष की परिक्रमा की व कातोर माता की पूजा अर्चना की। राउमावि परिसर में स्थित शीतला माता मंदिर में भक्तों की भीड़ रही।