स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Banswara : बुनकर समाज के लोग बोले, देलवाड़ा में आत्महत्या नहीं, प्रेमी युगल की हत्या हुई, पुलिस नहीं कर रही कोई कार्रवाई

deendayal sharma

Publish: Sep 22, 2019 12:10 PM | Updated: Sep 22, 2019 12:10 PM

Banswara

बांसवाड़ा जिले के घाटोल क्षेत्र में देलवाड़ा गांव में कुछ दिन पूर्व प्रेमी युगल के फंदे से लटके शव बरामद होने के मामले में पुलिस कार्रवाई पर सवाल उठे हैं। बुनकर समाज ने इसे लेकर देलवाड़ा में बैठक की, जिसमें समाज जनों ने खुलकर इसे आत्महत्या नहीं, हत्या का मामला बताया।

बांसवाड़ा. बांसवाड़ा जिले के घाटोल क्षेत्र में देलवाड़ा गांव में कुछ दिन पूर्व प्रेमी युगल के फंदे से लटके शव बरामद होने के मामले में पुलिस कार्रवाई पर सवाल उठे हैं। बुनकर समाज ने इसे लेकर देलवाड़ा में बैठक की, जिसमें समाज जनों ने खुलकर इसे आत्महत्या नहीं, हत्या का मामला बताया। प्रकरण में पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने के आरोप लगाते हुए लोगों ने रणनीति बनाई और सोमवार को इस संबंध में उच्चाधिकारियों से मिलने का निर्णय किया।

banswara : युवक की घर में धारदार हथियार से हत्या, प्रेम प्रसंग के चलते वारदात का अंदेशा
बैठक में समाजजनों एवं परिजनों ने बताया कि चार सितंबर को प्रेमी युगल देलवाड़ा निवासी करण पुत्र देवीलाल बुनकर तथा जगपुरा निवासी मनीषा पुत्री कन्हैया लाल मेघवाल के शव गांव में एक सूने मकान में फंदे से लटके हुए और कई सामान मिले थे। इस घटनाक्रम को लेकर गत मंगलवार को ग्रामीण मोटागांव थाने पहुंचे, लेकिन एसएचओ नागेंद्रसिंह ने परिजनों एवं बुनकर समाज को पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार शरीर पर कोई भी चोट नहीं होने से आत्महत्या का अंदेशा बताकर सभी को चुप कर दिया। जबकि परिजनों एवं समाज के लोगों का यह मानना है कि उक्त वारदात के दूसरे ही दिन परिजनों को हत्या के सबूत मिल गए थे। देलवाड़ा स्थित एक शोरूम पर लगे सीसीटीवी फु टेज पर रात को मनीषा और करण की हत्या कर आरोपी उनकी लाश को पुराने मकान पर फ ांसी के फं दे पर लटकाने के लिए जाते हुए नजर आ रहे हैं।
पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई
पुलिस परिजनों एवं बुनकर समाज के लोगों की ओर से रिपोर्ट देने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। इससे बुनकर समाज में रोष व्याप्त है। बैठक में लोकेंद्र सिंह, कोदर लाल बुनकर, शांतिलाल बुनकर, डूंगर लाल देवड़ा, शंकर लाल बुनकर, भगवती लाल बुनकर, मोहन लाल बुनकर, संतोष बुनकर गौतम, परमेश्वर वाणी, विजयपाल, मुकेश, मनोज, हरीश, कीर्तिश, रणछोड़, ताराचंद, देवीलाल, मोतीलाल, मणिलाल, जीवन लाल सहित कई बुनकर समाज के कई लोग उपस्थित थे। इस मामले में समाज के लोगों ने गृह मंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा।