स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पेयजल की फिजूलखर्ची पर अंकुश लगाएगा जलापूर्ति निगम

Sanjay Mohan Kulkarni

Publish: Oct 22, 2019 18:21 PM | Updated: Oct 22, 2019 18:21 PM

Bangalore

पेयजल की फिजूलखर्ची पर अंकुश लगाएगा जलापूर्ति निगम, शहर जलापूर्ति तथा मलजल निस्तारण निगम (बीडब्लूएसएसबी) के अध्यक्ष तुषार गिरिनाथ के अनुसार ऐसे उपभोक्ताओं से 1 हजार रुपए का जुर्माना वसूला जाएगा। ऐसे ओवरहेड टंकी ओवरफ्लो से पानी नहीं बहे इसलिए टंकी में लेवल सेंसर जैसे उपकरण लगाना अनिवार्य होगा

बेंगलूरु.शहर की जलापूर्ति किसी चुनौती से कम नहीं है। समुद्र की सतह से लगभग 900 मीटर ऊंचाई पर बसे बेंगलूरु शहर की लगभग 1 करोड़ आबादी को शहर से 130 किलोमीटर दूरी पर मण्ड्या जिले के कावेरी नदी पर निर्मित कृष्ण राज सागर (केआरएस) बांध से पेयजल की आपूर्ति की जा रही है। इतनी ऊंचाई पर स्थित इस शहर तक यह पानी पहुंचाने के लिए तीन पंपिंग स्टेशन स्थापित किए गए है। जहां पर 10 हजार से अधिक अश्वशक्ति क्षमता के पंप लगाए गए है।जलापूर्ति निगम के राजस्व की 80 फीसदी राशि का भुगतान इन पंपिंग स्टेशन के बिजली शुल्क पर खर्च होता है।
ऐसे भगीरथ प्रयासों के बाद शहर तक कावेरी का पानी पहुंचता है। लेकिन शहर के कई उपभोक्ता इस अमूल्य पेयजल का दुरुपयोग कर रहें है।शहर में कई बार आवासों की छतों पर स्थापित पानी के ओवरहेड टंकी से पानी बहता रहा है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए शहर जलापूर्ति तथा मलजल निस्तारण निगम (बीडब्लूएसएसबी)ने पेयजल की ऐसी फिजूलखर्ची पर अंकुश लगाने की पहल की है जिसके तहत अब निगम ने ऐसे उपभोक्ताओं से जुर्माना वसूलने की योजना बनाई है।
शहर जलापूर्ति तथा मलजल निस्तारण निगम (बीडब्लूएसएसबी) के अध्यक्ष तुषार गिरिनाथ के अनुसार ऐसे उपभोक्ताओं से 1 हजार रुपए का जुर्माना वसूला जाएगा। ऐसे ओवरहेड टंकी ओवरफ्लो से पानी नहीं बहे इसलिए टंकी में लेवल सेंसर जैसे उपकरण लगाना अनिवार्य होगा।जिसके परिणाम स्वरुप टंकी मे निर्धारित स्तर तक पानी पहुंचते ही स्वयं पंपिग मोटर रुक जाए। शहर में अधिकतर उपभोक्ताओं ने ऐसे सेंसर नहीं लगाए है जिसके कारण से ऐसी टंकी से पानी ओवर फ्लो हो रहा है। जिसके कारण सैकड़ों लीटर पेयजल व्यर्थ हो रहा है। जब तक उपभोक्ता ऐसा सेंसर नहीं लगाएंगे तब तक ऐेसे उपभोक्ताओं से प्रति दिन 100 रुपए का अतिरिक्त जुर्माना वसूला जाएगा।