स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मॉडल बनना चाहती थी पिता की नृशंस हत्या करने वाली बेटी

Ram Naresh Gautam

Publish: Aug 22, 2019 17:42 PM | Updated: Aug 22, 2019 20:03 PM

Bangalore

  • पुत्री अपनी सहेलियों के साथ शहर से बाहर घूमने जाने के बहाने जयकुमार हत्याकांड में उसका साथ देने वाले प्रवीण के साथ मुंबई गई थी...

बेंगलूरु. Rajajinagar के थोक कपड़ा व्यापारी जयकुमार गोधा हत्याकांड (Jaykumae Godha Murder Case) मामले में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं। पुलिस जांच से पता चला है कि जयकुमार की पुत्री Model बनना चाहती थी और परिवार को गुमराह कर उसने मुंबई जाकर फोटो शूट कराया था।

police केअनुसार राजस्थान के Jaipur District के विराटनगर के पास मेढ़ गांव के मूल निवासी जयकुमार की पुत्री अपनी सहेलियों के साथ शहर से बाहर घूमने जाने के बहाने जयकुमार हत्याकांड में उसका साथ देने वाले प्रवीण के साथ मुंबई गई थी।

वहां चार दिन तक रहकर उसने कई फोटो शूट कराए और फैशन शो में भाग लिया। उसने Mumbai से अपनी मां को फोन कर बताया कि वह मुंबई में है और पांच दिन बाद घर लौटेगी।

बेटी के चुपचाप मुंबई जाने की जानकारी जब जयकुमार को लगी तब इससे वे बेहद नाराज थे। सूत्रों की माने तो लड़की के मुंबई से वापस बेंगलूरु लौटने पर गुस्साए जयकुमार ने उसकी पिटाई की और उसका मोबाइल छीन लिया था।

जयकुमार को पुत्री की सहेलियोंं से पता चला कि वह प्रवीण के साथ मुंबई गई थी। इस दौरान उसके साथ कोई भी सहेली नहीं गई थी।

जयकुमार ने पुत्री की पिटाई करने के अलावा प्रवीण को भी पुत्री से दूर रहने की चेतावनी दी थी। उस समय प्रवीण ने जयकुमार को अभद्रता की थी और सबक सिखाने की बात कही थी।

पुलिस ने बताया कि स्नातक प्रथम वर्ष का छात्र प्रवीण राजाजीनगर तीसरे ब्लाक का निवासी है। उसके पिता एक निजी कंपनी के कर्मचारी थे।

कुछ महीने पूर्व उसके पिता समेत कई कर्मचारियों को काम से निकाल दिया था। सेटलमेंट के रूप में लड़के के पिता को कुछ लाख रुपए मिले थे।

इस राशि को उन्होंने बैंक में प्रवीण कुमार के नाम पर जमा किए और इससे मिलने वाले ब्याज से परिवार का गुजारा चलता था। दंपती का प्रवीण ही इकलौता पुत्र है।

 

सोशल मीडिया पर अनर्गल बातें शेयर न करें
जैन संत अंतर्मुखी मुनि पूज्यसागर महाराज ने बेंगलूरु में कपड़ा व्यापारी जैन युवक जयकुमार की हत्या पर गहरा दु:ख जताते हुए इसके लिए मनुष्य में बढ़ते कषायों को कारण माना है।

उन्होंने कहा कि इस हत्याकांड को लेकर सोशल मीडिया के जरिए भ्रामक संदेश से बचें और शेयर न करें। जागरूक रहें और सकारात्मकता बरतें। फिजूल और अनर्गल बातें फारवर्ड नहीं करें, ताकि दुखी परिवार और अधिक दुखी न हो।