स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मंत्रीजी ने आधे घंटे में निपटा दी दस वर्ष की समस्या

Rajendra Shekhar Vyas

Publish: Sep 17, 2019 23:45 PM | Updated: Sep 17, 2019 23:45 PM

Bangalore

पति की मौत के बाद मुआवजा पाने भटक रही थी महिला

बेंगलूरु. आवास मंत्री वी. सोमण्णा ने 10 वर्ष मुआवजे की राशि पाने भटक रही महिला की समस्या का आधे घंटे में समाधान कर दिया। पति की मौत के बाद कावेरी भवन में स्थित आवास विभाग के मुख्यालय के चक्कर लगा रही चित्रदुर्गा की सुनीता नामक महिला को राहत मिली है।
मुख्यालय में विभागीय अधिकारियों की बैठक के बाद सोमण्णा को मंजुला नामक महिला ने शिकायत करते हुए बताया कि पति मंजुनाथ आवास विभाग में कर्मचारी थे, ड्यूटी के दौरान 2009 में उनकी एक हादसे में मौत हो गई थी। मुआवजे की राशि के लिए आवेदन दिया था, लेकिन 10 साल में रकम नहीं मिली है।
महिला की शिकायत पर मंत्री वी. सोमण्णा ने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए आधे घंटे में मुआवजे की राशि का चेक महिला को सौंपने के निर्देश दिए तथा साथ सहानुभूति के आधार पर इस महिला को भी आवास विभाग में रोजगार देने के आवेदन का सात दिन में निपटारा करने के निर्देश दिए। आवास मंत्री का गुस्सा देखकर आवास विभाग के अधिकारियों ने महिला को कुछ ही समय में 5 लाख 50 हजार रुपए मुआवजे का चेक प्रदान किया। रोजगार को लेकर अगले सप्ताह में आवश्यक आदेश जारी करने की सूचना दी।