स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

' मैं सत्ता का भूखा नहीं हूं'

Rajendra Shekhar Vyas

Publish: Jul 21, 2019 01:10 AM | Updated: Jul 21, 2019 01:10 AM

Bangalore

मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने अपने दो घंटे लंबे भाषण में कहा-
सत्ता आती-जाती रहती है
मेरा इरादा केवल जनता के हितों की रक्षा करना मात्र है
विधायकों को सदन से अनुपस्थित रखने के पीछे जो दल है, उसे सभी जानते हैं

बेंगलूरु. विधानसभा में शुक्रवार को विश्वासमत प्रस्ताव पर बहस के दौरान मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने अपने दो घंटे लंबे भाषण में कहा कि वे सत्ता के भूखे नहीं हैं। सत्ता आती-जाती रहती है लेकिन उनका इरादा केवल जनता के हितों की रक्षा करना मात्र है। अपने लंबे भाषण के दौरान उन्होंने सरकार की उपलब्ध्यिों का जिक्र करने के साथ ही कहा कि उनकी सरकार को अस्थिर करने का प्रयास लंबे अरसे से चल रहा है। बिना किसी का नाम लिए उन्होंने कहा कि विधायकों को सदन से अनुपस्थित रखने के पीछे जो दल है, उसे सभी जानते हैं।

चौथे दिन भी विधान परिषद में कोई कार्यवाही नहीं
सदन में प्रदर्शन से नहीं चल सका काम
बेंगलूरु. संकट में घिरी कुमारस्वामी सरकार को बचाने को लेकर एक ओर विधानसभा में लंबी बहसें हो रही हैं। वहीं,शुक्रवार को ऊपरी सदन विधान परिषद लगातार चौथे दिन बिना किसी कार्यवाही के सोमवार तक के लिए स्थगित हो गई। शुक्रवार को भी विधान परिषद में शोरगुल, आरोप प्रत्यारोप का दौर चलता रहा। सभापति प्रतापचंद्र शेट्टी ने कई बार उनके पीठ के सामने धरना देकर गठबंधन सरकार के खिलाफ नारे लगा रहें विपक्ष भाजपा के सदस्यों को सदन की कार्यवाही चलाने में सहयोग करने की अपील की। हालांकि सभापति की इस अपील का भाजपा के सदस्यों पर कोई असर नहीं हुआ। भाजपा सदस्यों के खिलाफ सत्तासीन कांग्रेस तथा जद-एस के कई सदस्यों ने एक साथ जवाब देना शुरु किया जिसके कारण सदन की स्थिति बेकाबू होते हुए देखकर सभापति ने कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक स्थगित करने की घोषणा की।