स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एक महीने से पिता की हत्या के प्रयास में थी बेटी

Rajendra Shekhar Vyas

Publish: Aug 21, 2019 01:38 AM | Updated: Aug 21, 2019 01:38 AM

Bangalore

खुलासा होने पर पुत्री और उसका दोस्त गिरफ्तार
नौवीं कक्षा में पढऩे वाली बेटी को मोबाइल का ज्यादा उपयोग न करने की दी थी सीख

बेंगलूरु. राजस्थान मूल के व्यापारी जयकुमार की हत्या के आरोप में गिरफ्तार उसकी नाबालिग बेटी ने खुलासा किया है कि वह पिछले एक महीने से पिता की हत्या की योजना बना रही थी।
उल्लेखनीय है कि रविवार को राजस्थान के जयपुर जिले के मेढ़ गांव निवासी प्रवासी व्यवसायी जयकुमार का शव राजाजीनगर थानांतर्गत भाष्यम सर्कल के पास पांचवें ब्लॉक के 17वें-बी क्रॉस स्थित उसके मकान के बाथरूम में मिलाथा। पुलिस ने जयकुमार हत्याकांड 24 घण्टे में सुलझाते हुए उसकी नाबालिग बेटी एवं उसके 18 वर्षीय दोस्त को गिरफ्तार किया था। पुलिस के अनुसार जयकुमार की नौवीं कक्षा में पढऩे वाली 15 वर्षीय बेटी अक्सर मोबाइल पर चैटिंग करते रहती थी। जयकुमार को यह पसंद नहीं था और उन्होंने कई बार बेटी को मोबाइल का कम इस्तेमाल करने को कहा था। पिता की हिदायत से नाराज बेटी ने अपने एक दोस्त प्रवीण (18) के साथ मिलकर जयकुमार की हत्या की साजिश रची।
पुलिस के अनुसार 15 वर्षीय किशोरी ने पिछले कुछ महीनों के दौरान टीवी सीरियल, इंटरनेट और सोशल मीडिया पर हत्या करने के विभिन्न तरीकों की पड़ताल की। उसने दोस्त प्रवीण के साथ मिलकर हत्या की योजना को अंजाम देने का षडयंत्र रचा लेकिन पिछले एक महीने से योजना में सफल नहीं हो पा रहे थे। दोनों, पिछले महीने जुलाई से ही जयकुमार की हत्या के प्रयास में लगे थे। अंतत: 18 अगस्त को जब लड़की की मां और भाई पुडुचेरी गए तब उसने घर में किसी के नहीं होने का फायदा उठाकर पिता को नींद की गोली देकर बेसुध कर दिया और फिर बेटी ने उसके दोस्त प्रवीण के साथ मिलकर जयकुमार के शरीर को चाकू से गोद दिया। हत्या के सबूत मिटाने के लिए जयकुमार के खून से सने कपड़ों को वॉशिंग मशीन में धोने के बाद कमरे में फैला खून भी साफ किया। बाद में शव को बाथरूम में ले गए और पेट्रोल छिड़कर आग लगा दी। इस दौरान दोनों के पांव भी आंशिक रूप से झुलस गए। बाद में लड़की ने मदद के लिए शोर मचाया और लोगों को बताया कि उसके पिता बाथरूम में नहाने गए थे और अचानक आग से जल गए। दोनों ने हत्या को आत्महत्या का रूप देने का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हो पाए। रविवार को घटनास्थल पर पहुंची। शुरुआत में शॉर्ट सर्किट के कारण लगी आग की वजह से जयकुमार के झुलसने का अनुमान लगाया गया लेकिन शव की स्थिति देखकर पुलिस को संदेह हुआ। प्राथमिक जांच में मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया। पुलिस ने इसेे संदेहास्पद करार देते हुए मामला दर्ज कर गहन पड़ताल की। पुलिस उपायुक्त (उत्तर) शशिकुमार ने सोमवार को बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर गहन पड़ताल की। जब लड़की और प्रवीण से सख्ती से पूछताछ की गई तो संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए और सवालों में उलझकर फंसकर पूरा घटनाक्रम उगल दिया।
नापसंद थी पिता की हिदायतें
बेटी का अक्सर देर तक मोबाइल पर बात करना और चैंटिंग में लगे रहना जयकुमार को पसंद नहीं था। लड़की और गिरफ्तार किए गए प्रवीण से उसकी दोस्ती को लेकर भी पिता को आपत्ति थी। जयकुमार ने कई बार बेटी को इन सबसे दूर रहने को कहा था। पिता की ये सब हिदायतें बेटी को नापसंद थी। वह इसे अपने अधिकारों का हनन मानने लगी थी।
हत्या का मलाल नहीं
बेटी को पिता की हत्या करने का फिलहाल कोई मलाल नहीं है। सूत्रों के अनुसार हत्याकांड का खुलासा होने के बाद पुलिस ने जब उसे गिरफ्तार किया तब परिवार के सभी लोग अचंभित रह गए। हालांकि परिवारजनों ने उसे पिता के अंतिम संस्कार में भाग लेने को कहा लेकिन लड़की ने साफ इनकार कर दिया।