स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बांदा में पाये जाते हैं भगवान राम के पदचिन्ह, यहीं रह कर किया था 14 वर्षों तक जीवनयापन

Akansha Singh

Publish: Sep 12, 2019 12:23 PM | Updated: Sep 12, 2019 12:23 PM

Banda

चित्रकूट में रम रहे रहिमन अवध नरेस, जा पर विपदा परत है शो आवे यही देश" जी हां यह पंक्तियां भगवान श्री रामचंद्र जी के जीवन का वर्णन श्री रामचरित मानस में मिलती है।