स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चोरों ने पुलिस अफसर के घर को बनाया निशाना, कर डाली लाखों की चोरी, अब तक नहीं मिला कोई सुराग

Neeraj Patel

Publish: Sep 04, 2019 21:40 PM | Updated: Sep 04, 2019 21:40 PM

Banda

बुंदेलखंड के बांदा में एक बार फिर अपराधियों ने खाकी को सीधी चुनौती दी है।

बांदा. बुंदेलखंड के बांदा में एक बार फिर अपराधियों ने खाकी को सीधी चुनौती दी है। चोरों ने दिनदहाड़े इस बार खुद एक पुलिस अफसर को निशाना बनाया और उनके सरकारी आवास का ताला तोड़कर लाखों रुपए की नगदी और जेवरात पर हाथ साफ कर दिया और फरार हो गए। सूचना मिलते ही पूरे पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया और पुलिस की सभी टीमों के साथ आला अधिकारी मौके पर पहुंचकर जांच में जुट गए। तकरीबन 6 घंटे तक पुलिस सारे मामले को दबाने में लगी रही लेकिन घंटों की मेहनत के बाद भी पुलिस के हाथ कोई सुराग नहीं लगा।

जानें पूरा मामला

बांदा के अतर्रा कस्बे में चोरों ने पुलिस को यह चुनौती दी है। चोरों ने दोपहर तकरीबन डेढ़ बजे जब सीओ अतर्रा राजीव प्रताप सिंह तहसील दिवस में मौजूद थे, उसी वक्त थाने के नजदीक ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में बने सीओ अतर्रा के आवास में ताला तोड़कर चोरों ने इस दुस्साहसिक वारदात को अंजाम दिया और तकरीबन बीस लाख रुपए का माल समेट कर फरार हो गए। हालांकि आवास में तैनात गार्ड तेज बहादुर कुशवाहा भी ड्यूटी में मौजूद बताया जा रहा है लेकिन उसके बावजूद चोर सीओ साहब के आवास का ताला तोड़कर आराम से अंदर घुस गए और आवास के अंदर रखे जेवरात और नगदी में हाथ साफ कर दिया।

घटना के समय सीओ राजीव प्रताप सिंह की पत्नी शहर के बाहर थी। तहसील दिवस के बाद जब सीओ साहब अपने आवास पहुंचे तो ताला टूटा हुआ था और घर के अंदर सारा सामान बिखरा पड़ा था और कीमती गहने और नगदी नदारद थी। पीड़ित सीओ ने इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी और देखते ही देखते पूरा क्षेत्र पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया।

अपर एसपी लाल भरत कुमार पाल फॉरेंसिक टीम और स्वात टीम के साथ मौके पर पहुंचे और कई घंटे तक जांच पड़ताल करते रहे लेकिन उनके हाथ कोई सुराग नहीं लगा। अब इस मामले में अपर एसपी का कहना है कि सीओ अतर्रा की पत्नी वापस आ रही हैं और उनके आने के बाद ही पता चलेगा कि घर में कितना सामान चोरी हुआ है।