स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बांदा कृषि विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में पहुंची राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, इन छात्रों को किया सम्मानित

Neeraj Patel

Publish: Oct 03, 2019 19:18 PM | Updated: Oct 03, 2019 19:18 PM

Banda

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल बांदा कृषि विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में सम्मिलित हुई जहां उन्होंने बुंदेलखंड में व्याप्त सूखे गरीबी की समस्या पर लोंगों से आगे आकर हल निकालने की अपील की।

बांदा. उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल बांदा कृषि विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में सम्मिलित हुई जहां उन्होंने बुंदेलखंड में व्याप्त सूखे गरीबी की समस्या पर लोंगों से आगे आकर हल निकालने की अपील की। राज्यपाल ने कृषि विश्व विद्यालय में पहले स्थान पाने वाले छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया तथा किसानों की स्थिति में सुधार लाने के लिए कृषि के क्षेत्र में निरंतर अनुसंधान करने की अपील की।

राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने बुंदेलखंड के सूखे, अशिक्षा, कुपोषण व गरीबी जैसी समस्याओं से निपटने के लिए गुजरात मॉडल की तर्ज पर काम करने की अपील की। साथ ही उन्होंने कहा कि महिलाएं सबसे ज्यादा कुपोषण का शिकार हुई है जिसके लिए छात्राओं को प्रारंभ से ही संतुलित आहार की शिक्षा देनी चाहिए। कहा कि सूखे से निपटने के लिए जल संचयन पर जोर देना होगा, ज्यादा से ज्यादा तालाब खोद कर जल संचयन कर सूखे से निपटा जा सकता है।

अन्ना जानवरों की समस्या पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि गुजरात मॉडल की तर्ज पर यूपी में भी गांव स्तर पर चारा ग्रह विकसित करने की आवश्यकता है। साथ ही कहा कि कोई कैसे बुढ़ापे में जानवरों को बाहर कर सकता है जिस गाय ने जीवन भर लाभ दिया उसके बुढ़ापे में उसको बेसहारा न करें, उन्होंने छात्र छात्राओं से अपील करते हुए कहा कि मोबाइल से ज्यादा पुस्तकों को महत्व दें ताकि ज्ञान और संस्कार में वृद्धि हो सके। आनंदी बेन पटेल ने इससे पहले स्थान पाने वाले छात्र छात्राओं को सम्मानित किया और उनसे अपील करते हुए कहा कि कृषि के क्षेत्र में निरंतर अनुशंधान करते रहें ताकि किसानों की स्थिति में और सुधार हो सके।

ये भी पढ़ें - गांधी संकल्प यात्रा के तहत मेनका गांधी ने की 15 किलोमीटर की पदयात्रा, पौधरोपण कर स्वस्थ पर्यावरण का दिया संदेश