स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य ने सघन टीवी रोगी खोज अभियान का किया स्थलीय निरीक्षण, दिए यह निर्देश

Neeraj Patel

Publish: Oct 15, 2019 16:13 PM | Updated: Oct 15, 2019 16:13 PM

Balrampur

सघन टीवी रोगी खोज अभियान के पांचवें दिन अभियान का स्थलीय निरीक्षण करने पहुंचे संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य ने जिले में चल रहे अभियान की समीक्षा की।

बलरामपुर. सघन टीवी रोगी खोज अभियान के पांचवें दिन अभियान का स्थलीय निरीक्षण करने पहुंचे संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य ने जिले में चल रहे अभियान की समीक्षा की। उन्होंने कई स्थानों पर जाकर ड्यूटी पर लगी टीमों के कार्य का सत्यापन भी किया। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की रिपोर्ट लेने के साथ-साथ जिले में संचारी रोग के रोकथाम के लिए मौजूद जीवन रक्षक दवाईयों के स्टाक की जानकारी भी ली।

संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य डा. ए.के. सिंह ने जिले में चल रहे सघन टीवी रोगी खोज अभियान के दौरान रामपुर व बिशुनीपुर गांव और सदर नगर पालिका क्षेत्र के गदुरहवा व बलुहा मोहल्ले में जाकर डोर-टू-डोर चल रहे अभियान की हकीकत का निरीक्षण किया। संयुक्त निदेशक ने निरीक्षण के दौरान लोगों को टीबी से बचाव की जानकारी दी। उन्होंने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र जोकहिया का निरीक्षण किया। इस दौरान केन्द्र पर आए मरीजों से उन्हें यहां मिलने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। साथ ही उन्होंने एसीएफ सर्वे के बारे में लोगों से बातचीत की और अस्पताल के लैब का भी निरीक्षण किया।

साफ सफाई की बेहतर व्यवस्था का दिया निर्देश

संयुक्त निदेशक ने स्वास्थ्य केन्द्र पर साफ सफाई की बेहतर व्यवस्था का निर्देश दिया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान माना कि यहां के लोग टीबी जैसी गम्भीर बीमारी के प्रति जागरूक नहीं हैं जबकि सरकारी अस्पताल में इसकी जांच व दवाओं से लेकर उपचार तक सब निःशुल्क है। जागरूकता के अभाव में लोग इसका लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। उन्होंने टीम के सदस्यों को निर्देश दिया कि अभियान के दौरान वे घर घर जाकर लोगों को टीबी रोग से बचाव के लिए सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं की जानकारी दें और मरीजों को उनका लाभ लेने के लिए प्रेरित करें।

18 सेक्टरों में लगाई गई 89 टीम

जिला क्षय रोग अधिकारी डा. सजीवन लाल से बताया कि जिले में सघन टीवी रोगी खोज अभियान चल रहा है। 23 अक्टूबर तक जिले में अभियान के तहत 18 सेक्टरों में 89 टीमों लगाई गई है। अभियान के दौरान जिले में 2 लाख 34 हजार 500 लोगों की जांच टीमों द्वारा की जाएगी। टीमें घर घर जाकर परिवार के हर सदस्य से बात कर टीबी रोगी की पहचान कर रही है। टीबी के लक्षण पाये जाने पर मरीज का उपचार तुरंत शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। भारत सरकार निःश्चय पोषण योजना के तहत टीबी के सभी मरीजों को 500 रूपए भी देती है। इस दौरान जिला कार्यक्रम समन्वयक क्षय रोग अविनाश विक्रम सिंह, संदीप यादव, अजीत चैहान तमाम विभागीय लोग मौजूद थे।