स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पहले किया सामूहिक दुष्कर्म, फिर सबसे पहले दरिंदगी करने वाले से करवा दी गई शादी, फिर घरवालों ने मिलकर किया घिनौना काम

Ruchi Sharma

Publish: Aug 17, 2019 17:18 PM | Updated: Aug 17, 2019 17:18 PM

Balrampur

ग्रामीणों ने सुलह समझौता के आधार पर मुख्य आरोपी से पीड़िता का निकाह करवा दिया

बलरामपुर. उतरौला कोतवाली क्षेत्र में किशोरी से सामुहिक दुष्कर्म करने वाले आरोपियों की ग्रामीणों जमकर पिटाई कर दी। ग्रामीणों ने सुलह समझौता के आधार पर मुख्य आरोपी से पीड़िता का निकाह करवा दिया। लेकिन आरोपी के घर वालों न पीड़िता को घर ले जाने से मना कर दिया। पीड़िता के पिता ने उतरौला के बांकभवनाी चौकी पर तहरीर दी लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। न्याय के आस में पीड़ित परिवार ने एएसपी अरविन्द मिश्रा से मिलकर उन्हें अपनी व्यथा सुनाई।

क्या है पूरा मामला


कोतवाली उतरौला क्षेत्र के एक गांव में 16 वर्षीय किशोरी से उसी के गांव के दबंगों न 11 अगस्त को उस समय सामूहिक दुष्कर्म किया जब वह शौच के लिए गई थी। शौच से लौटते समय दबंगों ने उसे घर में खींच लिया और सामूहिक दुष्कर्म किया। पीड़िता के शोर मचाने से गांव वालों ने आरेापियों को पकड़ लिया और पिटाई कर दी। सुलह-समझौता करने का दबाव बनाने के लिए पीड़िता का आरोपित के साथ 12 अगस्त को निकाह ग्रामीणों ने करवा दिया। ओरापी के परिजनों ने पीड़िता को ले जाने से मना कर दिया और मामले को रफा करने को दबाव बनाने लगे। दबंगो के डर से पीड़ित परिवार ने गांव छोड दिया और थाना गैसड़ी क्षेत्र में अपने रिश्तेदार के यहां रहने पर मजबूर है।

पुलिस पर कार्रवाई न करने का लगाया आरोप

पीड़िता के पिता का आरोप है कि पुलिस द्वारा आरोपियों के विरूद्ध कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। उन्होने बताया कि बांक भवानी पुलिस चौकी पर आरोपयिों के विरूद्ध तहरीर देने पर वहां मामले को रफा दफा करने का दबाव पुलिस द्वारा बनाया गया। कोतवाली उतरौला में घटना की सूचना देने के बाद उसे व उसकी बेटी को तीन दिन कोतवाली बुलाया गया और शाम को घर वापस भेज दिया गया। पीड़ित परिवार का आरोप है कि उतरौला पुलिस पूरे मामले को दबाने में जुटी है।

एसपी से लगाई न्याय की गुहार


पीड़ित परिवार ने न्याय मिलता ने देख पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई। उन्होने एसपी को संबोधित प्रार्थना पत्र एएसपी को सौंपा है। एसपी देवरंजन वर्मा ने बताया कि मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं, जांचोपरान्त कार्रवाई की जाएगी।