स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राप्ती नदी का कहर, कटान तेज होने से 15 घर नदी में समाहित

Akansha Singh

Publish: Sep 18, 2019 07:51 AM | Updated: Sep 18, 2019 07:51 AM

Balrampur

बलरामपुर में राप्ती नदी ने कहर मचाना शुरु कर दिया है। राप्ती नदी की कटान तेज होने से 15 घर नदी में समाहित हो चुके है।

बलरामपुर. बलरामपुर में राप्ती नदी ने कहर मचाना शुरु कर दिया है। राप्ती नदी की कटान तेज होने से 15 घर नदी में समाहित हो चुके है। राप्ती का कहर ललिया थानाक्षेत्र के साहेबनगर गाँव में देखने को मिल रहा है। इस तटवर्ती गाँव के दो दर्जन मकान नदी में समाहित हो चुके है जबकि कई और मकान कटान की जद में है। नदी की कटान को देखते हुये ग्रामीण अपने ही हाथो से अपना आशियाना उजाड रहे है। जिला प्रशासन ने बाढ खण्ड की टीम को कटान रोकने के लिये लगा दिया है और प्रभावित परिवारो को सुरक्षित स्थानो पर भेजा जा रहा है।

गौड़वा ग्राम पंचायत के मजरा साहबनगर में राप्ती नदी तेजी से कटान कर रही है। कटान की जद में 15 मकान हैं। जिसमें सात मकान नदी की धारा में समा चुके हैं। कटान को देखते हुए ग्रामीण अपने हाथों से आशियाना उजाड़ रहे हैं। बाढ़ खंड के अधिकारी मौके पर बचाव कार्य में जुटे हैं। पेड़ों की डाल नदी की धारा में डाली जा रही है। जिससे कटान को रोका जा सके। बावजूद इसके उन्हें सफलता नहीं मिल रही है। जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश ने बचाव कार्य तेज करने का निर्देश दिया है। नदी में पानी कम होते ही कटान तेज हो गई है। साहब नगर में कटान पीड़ितों की मदद के लिए सिर्फ कागजी प्रयास चल रहे हैं। गांव की तरफ तेजी से बढ़ रही नदी की धारा को देख हरीराम,राधिका व रामेश्वर मकान की ईंट उजाड़ रहे हैं। जिला अधिकारी कृष्णा करुणेश का कहना है कि एसडीएम की रिपोर्ट में 15 मकान कटान से प्रभावित हैं। जिसमें से सात धारा में बह गए हैं। सभी को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है।