स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मरीजों को दिए जाने वाले भोजन दवा व अन्य व्यवस्थाओं में मिली खामियां, लगाई फटकार

Akansha Singh

Publish: Oct 04, 2019 07:37 AM | Updated: Oct 04, 2019 07:37 AM

Balrampur

राज्य महिला आयोग की सदस्य सुनीता बंसल ने बलरामपुर जिला मुख्यालय पहुंचकर जिला संयुक्त चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया।

बलरामपुर. राज्य महिला आयोग की सदस्य सुनीता बंसल ने बलरामपुर जिला मुख्यालय पहुंचकर जिला संयुक्त चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया। बंसल के औचक निरीक्षण में अस्पताल की व्यवस्थाओं की एक ओर जहां पोल खुली वहीं दूसरी ओर मरीजों को दिए जाने वाले भोजन दवा व अन्य व्यवस्थाओं में खामियां पाई गई। खामियों के लिए सदस्य ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी घनश्याम सिंह तथा सीएमएस डॉ एनके बाजपेई को अव्यवस्था के लिए कड़ी फटकार लगाई तथा व्यवस्थाओं को तत्काल सुधार करने का निर्देश दिया ।

राज्य महिला आयोग की सदस्य सुनीता बंसल ने जिला संयुक्त चिकित्सालय पहुंचकर सीधे ओपीडी कक्षों का निरीक्षण किया। बाहर बैठे तमाम मरीजों व उनके तीमारदारों से व्यवस्थाओं के विषय में जानकारी ली । प्रसव कक्ष में जाकर प्रसूता से हालचाल जाना तथा किचन में जाकर मरीजों को दिए जाने वाला भोजन चेक किया। भोजन की गुणवत्ता काफी खराब थीए दाल में पानी ही पानी नजर आ रहा था। पौष्टिक सब्जियां नहीं थी। दूध व अन्य सामग्री भी वहां नहीं थीए जिसके लिए उन्होंने जिम्मेदारों को फटकार लगाई। शौचालय के निरीक्षण में महिला शौचालय में ताला पाया गया जिसे तत्काल खोलने का निर्देश दिया गया। दवा कराने आए कई मरीजों ने व्यवस्थाओं को लेकर शिकायत की। योजनाओं की जानकारी न होने की बात भी कही।दवा बाहर से लिखे जाने की भी शिकायत मरीजों द्वारा की गई । शिकायत को गंभीरता से लेते हुए बंसल ने सीएमओ तथा सीएमएस को सख्त हिदायत दी और कहा की दवा अस्पताल से ही दिए जाएं। योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए बड़े.बड़े बोर्ड लगाकर उसमें संपूर्ण जानकारी दी जाए । इसके साथ ही योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक पत्रजातों की जानकारी बोर्ड में लिखा होना चाहिए । उन्होंने यह भी कहा कि अगले विजिट में कमी पाई गई तो निश्चित रूप से संबंधित के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी । बंसल ने बताया पूरे निरीक्षण के दौरान तमाम खामियां पाई गई हैं जिसके सुधार के निर्देश दे दिए गए हैं और यदि सुधार नहीं किए गए तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी ।