स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रेलवे ट्रेक पर काम कर रहा था कर्मचारी तभी आ पहुंची एक्सप्रेस ट्रेन, फिर...

Akanksha Agrawal

Publish: Aug 18, 2019 22:02 PM | Updated: Aug 18, 2019 13:44 PM

Baloda Bazar

Death by train : बरौनी एक्सप्रेस (Barauni express train) की चपेट में आने से एसएससी सिग्नल एके चांद की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

भाटापारा. बरौनी एक्सप्रेस की चपेट में आने से एसएससी सिग्नल एके चांद की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। वहीं उनके साथ काम कर रहे चंद्रप्रकाश को गंभीर चोटें आई है, जिसे उपचार के लिए रायपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यह घटना शुक्रवार और शनिवार की रात 12.30 की बताई जाती है।

घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार बीती रात बीसीसी मशीन के द्वारा डाउन लाइन पर ट्रैक पर कार्य किया जा रहा था। तभी सेंट्रल लाइन से बरौनी एक्सप्रेस अपनी गति से आ रही थी। बीसीसी मशीन की आवाज में काम कर रहे लोग ट्रेन की आवाज नहीं सुन पाई और ट्रेन धड़धड़ाते हुए उनके पास से गुजर गई, जिसके चपेट में आने से ट्रैक पर काम रहे एके चांद की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं उनका साथी चंद्रप्रकाश को गंभीर चोटें आई है। उन्हें उपचार के लिए रायपुर ले जाया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

बताया जाता है कि जहां वे काम कर रहे थे वहां पर्याप्त लाइन नहीं थी। जिसकी वजह से लोग ट्रेन को नहीं देख पाए और हादसे के शिकार हो गए। इस हादसे को लेकर रेलवे कर्मचारियों और ट्रेक मशीन वालों में काफी आक्रोश व्याप्त है। रेलवेकर्मी पंकज कुमार ने बताया कि हमने रेल प्रबंधक को ज्ञापन सौंपकर रात्रि की ड्यूटी को दिन में परिवर्तित करने फरवरी माह में ज्ञापन सौंपा था। लेकिन इस पर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया।