स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यह शिक्षक चार साल से बीमार प्रधान पाठक पिता का हस्ताक्षर कर निकाल रहा था वेतन

Akanksha Agrawal

Publish: Aug 11, 2019 21:10 PM | Updated: Aug 11, 2019 15:33 PM

Baloda Bazar

लोगों को सच्चाई की राह दिखाने वाले शिक्षक ही ऐसी हरकत कर रहे थे जिससे उनके पिता का सिर झूक गया।

कसडोल. शिक्षक हमेशा अपने स्टूडेंट्स को सच्चाई पर चलने की सीख देते हैं और अपने विद्यार्थियों को कभी झूठ नहीं बोलने और हमेशा सही राह पर चलना सीखाते हैं। पर यहां एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें लोगों को सच्चाई की राह दिखाने वाले शिक्षक ही ऐसी हरकत कर रहे थे जिससे उनके पिता का सिर झूक गया।

प्राथमिक शाला चितावर विकासखंड बलौदाबाजार में हर महीने एक शिक्षक बेटा अपने लकवाग्रस्त पिता का फर्जी हस्ताक्षर कर उनका वेतन निकलवा रहा था। जिसकी शिकायत मिलते ही जिला शिक्षा अधिकारी ने जांच के आदेश जारी कर दिए हैं।

मिली जानकारी के अनुसार प्राथमिक शाला चितावर विकासखंड बलौदाबाजार में प्रधानपाठक के पद पर पदस्थ लोमन सिंह साहू वर्ष 2015 से लकवाग्रस्त हो गए हैं, जिसकी जानकारी छिपाते हुए शाला के पाठकान पंजी में उसके पुत्र शिक्षक (पं) वर्ग 3 अशोक साहू द्वारा अपने बीमार पिता का फर्जी हस्ताक्षर कर लगातार वेतन आहरण किया जा रहा है।

इस आशय की लिखित शिकायत शिक्षा अधिकारी एके भार्गव तथा जिला कलेक्टर कार्तिकेय गोयल को शिकायतकर्ता संजय यादव शिवरीनारायण निवासी ने किया। अपने शिकायत में संजय यादव ने कहा है कि चूंकि उक्त व्यक्ति स्वयं शिक्षक (पं) के पद पर पदस्थ है और जानबूझकर उसके द्वारा इस तरह का पाठकान में अपने पिता का फर्जी हस्ताक्षर किया है जो कि अपराध की श्रेणी में आता है। फर्जी हस्ताक्षर कर वेतन आहरण करने के मामले को गंभीरता से लेते हुए जिला शिक्षा अधिकारी एके भार्गव ने बीईओ एके वर्मा को जांच अधिकारी नियुक्त कर मामले की तत्काल जांच कर प्रतिवेदन देने के निर्देश दिए हैं।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News

एक ही क्लिक में देखें Patrika की सारी खबरें