स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

घूस लेने की शिकायत करने वाले 8 छात्रों को प्राचार्य ने भेजा लीगल नोटिस, माफी नहीं मांगने पर 5 लाख की मानहानि का दावा

Bhawna Chaudhary

Publish: Sep 13, 2019 22:00 PM | Updated: Sep 13, 2019 16:18 PM

Baloda Bazar

सुरक्षाकर्मी द्वारा घूस लेने की शिकायत एसडीएम से कर न्याय की गुहार लगाने वाले आठ छात्रों को आईटीआई के प्राचार्य ने कोर्ट से लीगल नोटिस थमा दिया है।

देवभोग. पिछले दिनों प्रवेश के नाम पर प्राचार्य और सुरक्षाकर्मी द्वारा घूस लेने की शिकायत एसडीएम से कर न्याय की गुहार लगाने वाले आठ छात्रों को आईटीआई के प्राचार्य ने कोर्ट से लीगल नोटिस थमा दिया है। वहीं पन्द्रह दिनों के अंदर लिखित में माफी नहीं मांगते पर उन पर 5 लाख रुपए की मानहानि का दावा करने की बात कही है।

एसडीएम दफ्तर पहुंचे आईटीआई कोपा के छात्र उमाशंकर सिन्हा, सुरेन्द्र मिश्रा, लोकेश कुमार सोनवानी और अजित कुमार मरकाम ने कहा कि उनसे प्राचार्य ने प्रवेश के नाम पर पैसे लिए हैं। जिसके चलते उन्होंने मामले में पिछले दिनों एसडीएम दफ्तर में शिकायत कर जांच कर उचित कार्रवाई करने की मांग की थी। सत्याग्रह संगठन के अध्यक्ष
होरीलाल साहू ने न्याय मिलते तक लड़ाई लडऩे का आश्वासन छात्रों को दिया।

जांच में हुई पुष्टि: एसडीएम निर्भय साहू ने बताया कि आईटीआई कोपा के छात्रों द्वारा प्रवेश के नाम पर घूस लिए जाने का आरोप लगाने के बाद उन्होंने जांच के लिए नायब तहसीलदार कृष्णमूर्ति दीवान को आदेशित किया था। नायब तहसीलदार ने जांच कर रिपोर्ट उन्हें दी है। रिपोर्ट में प्रवेश के नाम पर प्राचार्य द्वारा शासन से निर्धारित राशि से ज्यादा राशि छात्रों से वसूले जाने की बात सामने आई है।

रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि हुई हैं कि प्राचार्य ने गार्ड के माध्यम से तय मापदंड से अधिक राशि ली है। सुरक्षाकर्मी ने कबूला है कि प्राचार्य के निर्देंश पर उन्होंने छात्रों से अधिक राशि वसूली है। वहीं जिन छात्रों ने मुझसे शिकायत की थी, प्राचार्य ने उनकी आधी राशि भी लौटाई थी। लीगल नोटिस प्राचार्य द्वारा देना उनके बचने का एक तरीका है। प्राचार्य को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया गया है। वहीं तीन दिनों के अंदर उपस्थित होकर जवाब पेश करने के निर्देंश दिए गए है। यदि प्राचार्य तीन दिनों के अंदर उपस्थित होकर अपना जवाब पेश नहीं करेंगे तो उनके खिलाफ एकपक्षीय कार्रवाई की जाएगी। साथ ही इसकी जानकारी

कलेक्टर के साथ शासन स्तर पर भी भेजी जाएगी।
कालेज जाने को घबरा रहे हैं छात्र: एसडीएम दफ्तर पहुंचे छात्र उमाशंकर सिन्हा ,सुरेन्द्र मिश्रा, लोकेश कुमार सोनवानी, अजित कुमार मरकाम ने एसडीएम निर्भय साहू को बताया कि उन पर शिकायत वापस लिए जाने का दवाब सुरक्षाकर्मी द्वारा बनाया जा रहा है। शिकायत वापस नहीं लिए जाने की स्थिति में मारने पीटने की धमकी भी दी जा रही है। एसडीएम ने मामले में थाना प्रभारी से चर्चा कर उचित कदम उठाए जाने के निर्देंश भी उन्हें दिया।

एसडीएम से मुलाकात करने के बाद छात्र थाना पहुंचे। जहां उन्होंने थाना प्रभारी से मुलाकात कर मारपीट की धमकी दिए जाने की जानकारी दी। थाना प्रभारी सत्येन्द्र सिंह श्याम ने छात्रों को आश्वस्त किया कि पुलिस छात्रों के साथ है। इस संबंध में प्राचार्य से बात करने के लिए उसके आफिस पहुंचे तो वो उपस्थित नहीं थे। इसके बाद उसके फोन नंबर पर संपर्क किया गया, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया।