स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

क्रिकेट खेलते समय सिर में बल्ला लगने से घायल हो गया मासूम, नहीं आया होश तो डर से पड़ोसी ने कर दी हत्या

Bhawna Chaudhary

Publish: Jul 13, 2019 15:09 PM | Updated: Jul 13, 2019 15:09 PM

Baloda Bazar

पांच साल का बच्चा रिंकु सेन हत्याकांड में अंतत: पुलिस को सफलता मिल ही गई। क्रिकेट खेलते समय बेटे के बल्ले से रिंकु के घायल होने पर वाद-विवाद होने के भय से पड़ोसी ने इस हत्याकांड (Murder) को अंजाम दिया था।

कसडोल. छत्तीसगढ़ के बलोदा बाजार जिले में समीपस्थ ग्राम मोहतरा के पांच साल का बच्चा रिंकु सेन हत्याकांड में अंतत: पुलिस को सफलता मिल ही गई। क्रिकेट खेलते समय बेटे के बल्ले से रिंकु के घायल होने पर वाद-विवाद होने के भय से पड़ोसी ने इस हत्याकांड (Murder) को अंजाम दिया था। पुलिस ने रिंकु की हत्या के आरोप में पड़ोसी पति, पत्नी व उससे भतीजे को गिरफ्तार किया है। पुलिस के समक्ष आरोपियों ने अपना अपराध (crime news) स्वीकार कर लिया है। आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त सामग्रियों को पुलिस ने जब्त कर लिया है। सभी आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया जहां पर से उन्हें जेल भेज दिया गया।

यह है घटना
पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार 16 अप्रैल 2018 को ग्राम मोहतरा निवासी अशोक सेन ने कसडोल थाना आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि उसका 5 साल का लडक़ा रिंकु सेन गुम हो गया है। जिसके अपहरण किए जाने की अशंका पर तत्काल थाना कसडोल में गुम इंसान कायम कर अपराध धारा 363 भादवि पंजीबंद्ध कर विवेचना में लिया गया। तत्काल बलौदाबाजार जिले की विभिन्न इकाइयों से पुलिस बल को अपह्नत बालक रिंकु सेन को खोजने के लिए मोहतरा रवाना किया गया। जहां उसकी सघन तलाश की गई। घटना के 3 दिन बाद 19 अप्रैल 2018 को रिंकु सेन का शव उसके घर से तकरीबन 2 किमी दूर खेत में मिला। इसके बाद ंधारा 302, 201 भादवि जोडक़र पुलिस ने आरोपी पकडऩे जांच शुरू की। लेकिन कुछ पता नहीं चला।

मुंह-नाक दबाकर मार डाला
रमेश शुक्ला ने मृतक के पिता को पता चलने पर वाद-विवाद करने के भय व पूर्व की शराब बेचने की प्रतिस्पर्धा की रंजिश के चलते घर में रखे गमछा को रिंकु सेन के मुंह नाक को दबाकर हत्या कर दी। रमेश शुक्ला व पत्नी सुभाषनी शुक्ला ने रिंकु के शव को घर के शौचालय में रखे ड्रम में ले जाकर छुपा दिया। शाम तक गांव में पुलिस के बढ़ते दबाव को देखते हुए रात्रि करीबन 12:30 बजे तीनों आरोपियों रमेश शुक्ला, सुभाषनी शुक्ला और निकेंश शुक्ला ने घर में रखे बांस की टोकरी में रिकु सेन के शव को रखकर घर से तकरीबन 2 किमी दूर खेत में ले जाकर फेंक दिया। टोकरी को भी वहीं छोड़ दिया।

सीएम से न्याय की लगाई गुहार
हत्याकांड का खुलासा नहीं होने पर अशोक सेन ने मुख्यमंत्री से न्याय की गुहार लगाई। जिस पर पुलिस महानिर्देशक डीएम अवस्थी ने एसपी नीतू कमल के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन कर मामले की तत्परता से जांच के आदेश दिए थे। पुलिस टीम ने लगातार तीन महीने तक मोहतरा गांव में कैंप लगाकर सघन जांच-पड़ताल की। अन्तत: संदेही रमेश शुक्ला (46) पिता पदुमनाथ शुक्ला, सुभाषिनी शुक्ला (39) पति रमेश शुक्ला व भिलाई निवासी निकेंश शुक्ला (27) पिता कृष्णदत्त शुक्ला को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

बल्ला लगने से घायल हो गया था रिंकु
पूछताछ के दौरान शुक्ला परिवार ने लगातार पुलिस को भ्रमित करने का प्रयास किया। आखिरकार पुलिस ने रमेश शुक्ला, उसकी पत्नी सुभाषनी शुक्ला व उसका भतीजा निकेंश शुक्ला को गिरफ्तार किया कर लिया। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि 16 अप्रैल 2018 को रिंकु सेन अपनी मित्र मोनू शुक्ला, हिमांशु, मोनी व अन्य के साथ अपने घर के बगल छीताबाई कर्ष के बाड़ी में क्रिकेट खेल रहा था। खेल के दौरान सतीश उर्फ मोनू शुक्ला का बल्ला रिंकु के सर पर लग गया, जिससे वह बेहोश हो गया। इसकी जानकारी मोनू ने अपने पिता रमेश शुक्ला को घर जाकर दी। जिस पर रमेश शुक्ला और उसका भतीजा निकेंश शुक्ला बाड़ी में जाकर रिंकु सेन को उठाकर अपने घर ले आए। जहां उसे पानी इत्यादि पिलाकर होश में लाने का प्रयास किया। रिंकु पानी तो पिया परन्तु होश में नहीं आया।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर या LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News