स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शादीशुदा होते हुए भी Boyfriend से करना चाहती थी शादी, बीच में आया पति तो दोनों ने मिलकर...

Bhawna Chaudhary

Publish: Oct 16, 2019 11:02 AM | Updated: Oct 16, 2019 11:02 AM

Baloda Bazar

शादीशुदा होते हुए भी महिला अपने बॉयफ्रेंड के साथ शादी करना चाहती थी। इसी चाहत को पूरा करने के लिए महिला और उसके प्रेमी ने खतरनाक वारदात को अंजाम दे डाला।

शादीशुदा होते हुए भी महिला अपने बॉयफ्रेंड के साथ शादी करना चाहती थी। इसी चाहत को पूरा करने के लिए महिला और उसके प्रेमी ने खतरनाक वारदात को अंजाम दे डाला। दोनों की शादी में महिला का पति सबसे बड़ी बाधा था। तो दोनों ने उसे रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। फिर उस प्लान को अंजाम देने के लिए...

जानिए पूरा मामला
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मृतक चंद्रकांत की पत्नी मंजू बघेल पूर्व में सब्जी मंडी भाटापारा में मजदूरी करती थी। जहां उसका संबंध घूम-घूमकर आलू प्याज टमाटर बेचने वाले बिटकुली निवासी यदू कुमार नवरंगे से हो गया था। जिसकी जानकारी घटना के करीब 7 महीने पहले चंद्रकांत को होने पर उसने अपनी पत्नी को समझाया। पत्नी द्वारा नहीं मानने पर दोनों के मध्य लगातार वाद- विवाद होता रहा। इसी बात पर मंजू अपने मायके चली गई थी।

ऐसे दी गई घटना को अंजाम
5 अक्टूबर को यदू कुमार नवरंगे ने अपने मित्र रामू यादव और राजा बाबू के साथ चन्द्रकात बघेल की हत्या करने का निश्चय किया। पूर्व नियोजित तरीके से राजा बाबू ने चंद्रकांत बघेल को बुलाकर लाया। जहां से शराबभट्टी सुरखी रोड जाकर वापस आते समय बिजली ऑफिस के सामने रामू यादव व यदू कुमार नवरंगे ने चंद्रकांत की गोली मारकर हत्या कर दी। रामू यादव ने पिस्तौल को सुरखी पुल के पास छुपा दिया था।

शादीशुदा होते हुए भी Boyfriend से करना चाहती थी शादी, बीच में आया पति तो दोनों ने मिलकर...

प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने बनाई थी योजना
पूछताछ में यदू कुमार नवरंगे ने पुलिस को बताया कि मंजू से वह लगातार संपर्क में था। दोनों के बीच प्रगाढ़ प्रेम संबंध था। लेकिन उसके पति के कारण दोनों का मिल पाना संभव नहीं हो पा रहा था। इसलिए दोनों ने चंद्रकांत को मार कर आंध्र प्रदेश या अन्य प्रांत भाग जाने का प्लान बनाया। वह अपने पत्नी व बच्चों को भी छोडऩे के लिए तैयार था। उसने हत्या करने की योजना की जानकारी अपने दोस्त रामू यादव दी। इस पर रामू यादव ने अपने पास पिस्तौल होने की जानकारी देते हुए चंद्रकांत को मारने में साथ देने के लिए हामी भर दी।

शादीशुदा होते हुए भी Boyfriend से करना चाहती थी शादी, बीच में आया पति तो दोनों ने मिलकर...

6 अक्टूबर को सुरखी रोड बिजली आफिस के सामने दो अज्ञात मोटरसाइकिल चालकों ने संत रविदास वार्ड निवासी चंद्रकांत उर्फ कामता पिता ईश्वर बघेल की गोली मारकर हत्या कर दी है। ईश्वर बघेल की रिपोर्ट पर धारा 302 भादवि 25,27 आम्र्स एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध कर पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी।पुलिस ने घटना में प्रयुक्त मोटर साइकिल होंडा स्टनर व पिस्तौल को आरोपियों के कब्जे से बरामद कर लिया है।

आरोपियों के नाम
यदू कुमार नवरंगे पिता अशवा राम (27) बिटकुली, रामू यादव पिता मनीराम यादव (27) माडर हाल, शांति नगर भाटापारा, राजा बाबू भारती पिता बुधारूप (20) रविदास वार्ड भाटापारा, मंजू बघेल पति स्व. चन्द्रकात बघेल उर्फ कांता बघेल (26) रविदास वार्ड भाटापारा।