स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नौकरी की लालच में ठगों के जाल में फंस रहे बेरोजगार

Chandra Kishor Deshmukh

Publish: Nov 06, 2019 08:19 AM | Updated: Nov 05, 2019 23:28 PM

Balod

नौकरी की लालच में जिले बेरोजगार ठग के जाल में फंस रहे हैं। जिले में अब तक 88 से ज्यादा मामले नौकरी के नाम पर ठगी के सामने आए हैं। पुलिस विभाग लोगों को सराइबर क्राइम एवं ठगों से बचाने के लिए लगातार जागरुकता अभियान चला रहा है, लेकिन शिक्षित बेरोजगारों के साथ ठगी के मामले बढ़ते जा रहे हैं।

बालोद @ patrika . नौकरी की लालच में जिले बेरोजगार ठग के जाल में फंस रहे हैं। जिले में अब तक 88 से ज्यादा मामले नौकरी के नाम पर ठगी के सामने आए हैं। पुलिस विभाग लोगों को सराइबर क्राइम एवं ठगों से बचाने के लिए लगातार जागरुकता अभियान चला रहा है, लेकिन शिक्षित बेरोजगारों के साथ ठगी के मामले बढ़ते जा रहे हैं। ठगी करने वाले खुद को मंत्री और अधिकारियों का करीबी बताकर लोगों को आकर्षित करते हैं। उनका विश्वास जीतकर अपने चंगुल में फंसा लेते हैं।

1 लाख 28 हजार 500 से ज्यादा युवा बेरोजगार
जिला रोजगार पंजीयन विभाग के मुताबिक बालोद जिले में कुल 1 लाख 28 हजार 500 से ज्यादा युवा बेरोजगार हैं। ठग इन पढ़े लिखे युवाओं के पास आकर अपने आपको मंत्री या फिर विभाग के बड़े अधिकारी की पहुंच की धौंस दिखाते हैं। नौकरी लगाने के नाम पर एक लाख से 4 लाख तक की मांग करते हैं। नौकरी लगने की चाह में बेरोजगार उन्हें लाखों रुपए दे भी देते हैं। साल-डेढ़ साल तक नौकरी नहीं मिलने पर उन्हें पछतावा होता है और पुलिस के पास पहुंचते हैं।

जिला बनने के बाद से ठगी के मामले बढ़े
जिला बनने के बाद से विभिन्न विभागों में नौकरी लगाने के नाम पर ठगी करने के मामले बढ़ते जा रहे हैं। अब तक 88 मामले दर्ज किए जा चुके हैं।

दो साल में आए 34 मामले
नौकरी लगाने के नाम पर ठगी के सबसे ज्यादा मामले दो साल के भीतर ही आए हैं। सन् 2018 में 18 मामले और 2019 में अक्टूबर तक कुल 16 मामले सामने आए हैं। इस तरह 34 मामले दर्ज हुए। अभी कई लोग ऐसे हैं, जो पीडि़त होकर भी राशि वापस नहीं मिलने की डर से शिकायत नहीं कर रहे हैं।

बेरोजगार व पालक इस तरह बच सकते हैं ठगी से
यदि आप पड़े लिखे हो और आपको विभिन्न वेकेंसी में आवेदन डालने पर भी नौकरी नहीं मिल रही है तो आप हिम्मत न हारें और प्रयास करते रहे। आपके पास यदि कोई व्यक्ति आए और अपने आपको मंत्री या किसी अधिकारी का करीबी बताए। मंत्रियों के साथ अपना फोटो दिखाए तो इनके झांसे पर न आएं। ऐसे लोग नौकारी की गारंटी भी लें तो झांसे में न आएं। राशि की मांग करें तो कतई भी राशि न दें। चाहे वह स्टांप पर लिखकर भी दे दे।

सफलता पाने लगन और मन से करें तैयारी
यदि कोई जॉब करने की इच्छा है तो उसके लिए लगन और मन से तैयारी करें, कभी न कभी सफलता जरूर मिलेगी। नौकरी लागाने किसी भी विभाग के अधिकारी या फिर कर्मचारी भी राशि की मांग करें तो न दे। यदि आपको ऐसे लोग मिलते है तो अपने मोबाइल के वीडियो कैमरे व वाइस रिकॉर्ड चालू कर लेनदेन की क्लिप तैयार कर लें और शिकायत पुलिस में कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री व बीएसपी अधिकारियों से बताई पहचान
जिले के डौंडीलोहारा थाना अंतर्गत राजेश साहू से भिलाई सेक्टर 6 निवासी सोहनलाल व हुडको भिलाई निवासी सुनील दाहके ने मुख्यमंत्री व बीएसपी के अधिकारी से पहुंच बताकर बीएसपी में नौकरी लगाने के नाम पर 40-40 हजार रुपए ठग लिए। इसके अलावा दर्जनभर से अधिक लोगों से नौकरी लगाने के नाम पर ठगी की। दोनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

50 हजार ठग लिए चपरासी बनाने
बालोद थाना अंतर्गत फरवरी में पाररास निवासी से चपरासी की नौकरी लगाने के नाम पर कमकापार के रामेश्वर (30) ने युवक से तीन लाख 50 हजार की ठगी की थी।

आयुर्वेद विभाग में अपनी ऊंची पहुंच बताकर 25 लाख की ठगी
मार्च 2019 में बालोद के धन्नू लाल सार्वा ने आयुर्वेद विभाग में अपनी ऊंची पहुंच बताकर सात लोगों से 25 लाख की ठगी की थी। जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

ये हैं आंकड़े
सन्-मामले
2012-8
2013-7
2014-11
2015-9
2016-13
2017-10
2018-18
2019 सितंबर तक 12 प्रकरण

लोगों को किया जा रहा जागरूक
बालोद पुलिस अधीक्षक एमएल कोटवानी ने कहा कि कोई भी व्यक्ति आपको किसी भी विभाग में नौकरी लगा देने की बात कहे और पैसे मांगे तो भूलकर भी न दें। ऐसे लोगों की शिकायत तत्काल नजदीकी थाने या फिर सीधे पुलिस अधीक्षक कार्यालय में करें। लोगों को साइबर क्राइम व ठगी के मामले के प्रति जागरूक किया जा रहा है।

[MORE_ADVERTISE1]