स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कोर्ट का वारंट देखकर परेशान डाकिया फंदे पर झूला, पेड़ पर पिता का शव देखकर चीख पड़ा बेटा

Dakshi Sahu

Publish: Sep 11, 2019 16:50 PM | Updated: Sep 11, 2019 16:50 PM

Balod

चेक बाउंस मामले से परेशान होकर चिखलाकसा डाकघर के डाकिए ने ग्राम पंडवान जंगल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने जब परिजनों से बयान लिया तो बताया कि कुछ दिन पहले न्यायालय से चेक बाउंस का वारंट आया था।

बालोद. चेक बाउंस मामले से परेशान होकर चिखलाकसा डाकघर के डाकिए ने ग्राम पंडवान जंगल में फांसी लगाकर आत्महत्या (Postman suicide in Balod) कर ली। जानकारी के मुताबिक घटना सोमवार सुबह 10 से मंगलवार दोपहर 3 बजे के बीच की है। ग्राम गुजरा निवासी सेवाराम साहू 55 साल घर से सोमवार सुबह निकला था। उनका शव मंगलवार दोपहर साढ़े तीन बजे ग्राम के पंडवान जंगल में फांसी पर लटका मिला। पुलिस (Balod police) को जंगल में शव मिलने की सूचना पर मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया है।

Read more: एक ही परिवार के तीन लोग उफनती नदी में बहे, चार दिन बाद झाडिय़ों में फंसा मिला शव...

कोर्ट के वारंट से था परेशान
पुलिस ने जब परिजनों से बयान लिया तो बताया कि कुछ दिन पहले न्यायालय (Balod District court) से चेक बाउंस का वारंट आया था। वारंट के बाद वह परेशान रहने लगा था। वारंट किस लिए कितने राशि की वसूली के लिए जारी हुआ था यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। उस पर कितनी राशि गबन के आरोप लगे है या सिर्फ चेक बाउंस का मामला लंबित है। यह भी स्पष्ट नहीं हो पाया है। सोमवार को वह न्यायालय जाना बताकर घर से निकला था और लौटा नहीं।

Read more: सोनाग्राफी कराती गर्भवती महिलाओं की अंतरंग फोटो सोशल मीडिया में आयुक्त ने किया वायरल, बवाल मचा तो...

पेड़ पर लटका मिला शव
रात भर घर नहीं आने के बाद मंगलवार सुबह से बेटे और परिजन ने खोजबीन शुरू की। बेटा जंगल पहुंचा तो वह पेड़ पर फांसी पर लटका मिला। पुलिस ने घटनास्थल जाकर शव का पंचनामा कर पीएम के लिए जिला अस्पताल भिजवा दिया। बुधवार को पीएम किया जाएगा।

चिखलाकसा डाकघर में था पदस्थ
सेवाराम चिखलाकसा डाकघर में डाकिया था। घटना के दिन अपने घर से प्लास्टिक की रस्सी लेकर गया था। उसी रस्सी से उसने फांसी लगा ली।