स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

धान खरीदी के नए नियम से किसानों की फिर बढ़ी मुसीबत, 5 एकड़ से ज्यादा खेत वालों को दोबारा कराना पड़ेगा सत्यापन

Dakshi Sahu

Publish: Dec 10, 2019 11:27 AM | Updated: Dec 10, 2019 11:27 AM

Balod

समिति प्रबंधक एवं समिति अध्यक्ष ने बताया कि ऊपर से आदेश आया था कि 5 एकड़ से ज्यादा वाले किसानों का धान पुन: पटवारी से सत्यापन करने के बाद ही खरीदा जाए। (Balod News)

बालोद /गुरुर. धान खरीदी केंद्र गुरुर में 6 किसानों (Farmer in Balod) को धान बेचने परेशानियों का सामना करना पड़ा। जिससे किसान आक्रोशित हो गए थे। मामला सोमवार सुबह 11 बजे का है, जहां टोकन कटने के बाद किसान अपना धान मंडी में बेचने लाए थे, किंतु समिति प्रबंधक ने 5 एकड़ से ज्यादा वाले किसानों का धान खरीदने से मना कर दिया गया। जिससे किसान नाराज हो गए। वहीं पटवारी ने पुन: सत्यापन करने के बाद, जिसमें ऋण पुस्तिका, टोकन, खसरा नंबर मिलान करने के बाद ही किसानों का धान खरीदा। (Dhan kharidi in chhattisgarh)

Read more: मुख्य सचिव कर रहे थे धान खरीदी केंद्रों का औचक निरीक्षण, इधर किसानों ने तहसीलदार को बना लिया बंधक ...

पटवारी से कराया जाएगा सत्यापन
समिति प्रबंधक एवं समिति अध्यक्ष ने बताया कि ऊपर से आदेश आया था कि 5 एकड़ से ज्यादा वाले किसानों का धान पुन: पटवारी से सत्यापन करने के बाद ही खरीदा जाए। किसान जितेंद्र कुमार, मोतीलाल दरगहन, भीम सिंह, भूपेश कुमार ठेकवाडीह, लतखोर सिंह, सदासिंह ने बताया कि सुबह से ही हम धान लेकर मंडी आए थे, जहां हमारे धान को 2 घंटे बाद सत्यापन कर खरीदा गया। वहीं किसानों ने बताया कि इससे पहले वर्ष भी हम लोगों ने धान बेचा था, किंतु इस प्रकार से नियम नहीं थे। किसानों को अपना धान बेचने ना जाने आगे और क्या-क्या करना पड़ेगा।

Read more: कम धान खरीदने से नाराज किसानों ने तहसीलदार को बनाया बंधक, पुलिस फोर्स लेकर पहुंचे डिप्टी कलेक्टर ....

कलेक्टर से किया था किसानों ने निवेदन
7 दिसंबर को मंडी में प्रदेश के खाद्य सचिव एवं जिला कलेक्टर निरीक्षण में पहुंचे थे। जहां पर किसानों ने कलेक्टर से धान खरीदी का टारगेट बढ़ाने निवेदन किया था। जिला कलेक्टर ने किसानों को आश्वासन दिया था। वहीं केंद्रों में नए-नए नियम लागू होने से किसान आक्रोशित नजर आ रहे हैं। समिति प्रबंधक हेमंत गुरु ने बताया कि अब प्रतिदिन 1160 क्विंटल यानी 2900 कट्टा धान खरीदा जाएगा। यह आदेश जिला से प्राप्त हुआ है।

[MORE_ADVERTISE1]