स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सेल्फी के चक्कर में बीच तालाब में नाव पलटने से बची, 4 सीटर में 6 किशोर थे सवार

Satyanarayan Shukla

Publish: Aug 16, 2019 23:30 PM | Updated: Aug 16, 2019 23:30 PM

Balod

स्वतन्त्रता दिवस पर बोटिंग के दौरान सेल्फी लेने के चक्कर में नाव पलटते पलटते बच गई। समय पर बड़े नाव आने के बाद 6 बच्चों को बारी बारी से नाव में बिठाकर बाहर निकाला गया। समय पर नाव नहीं पहुंचती तो बड़ी दुर्घटना हो सकती थी।

बालोद@Patrika. स्वतन्त्रता दिवस पर बोटिंग के दौरान सेल्फी लेने के चक्कर में नाव पलटते पलटते बच गई। (Balod Ganag Sagar pond) समय पर बड़े नाव आने के बाद 6 बच्चों को बारी बारी से नाव में बिठाकर बाहर निकाला गया। (The boat survived the turn of the selfie) समय पर नाव नहीं पहुंचती तो बड़ी दुर्घटना हो सकती थी। (Balod patrika)

बिना सुरक्षा उपकरण और साधन के बोटिंग

घटना गुरुवार शाम 5.30 बजे जिला मुख्यालय के गंगासागर की है। बोटिंग के दौरान बिना सुरक्षा और लापरवाही पूर्वक सेल्फी लेना भारी पड़ गया। गहरे तालाब में चलती नाव में खड़े होकर सेल्फ़ी लेने के चक्कर में पलटने से बच गई। नाव पर सवार सभी 14 से 15 साल के बताए गए हैं। बच्चे कहां से आए थे और नाम पता किसी को जानकारी नहीं है। नाव पलटने की अंदेशा देख बच्चों ने ही पास के नाव वाले को आवाज दी। तब जाकर सभी बच्चों को दूसरे नाव पर बिठाकर बाहर निकाला गया। जिला मुख्यालय के गंगा सागर तालाब में बोटिंग भगवान भरोसे चल रहा है। वहां बिना सुरक्षा उपकरण और साधन के बोटिंग करवाई जा रही है।

सेफ्टी जैकेट अनिवार्य पर नहीं पहनते पर्यटक
नगर पालिका ने गंगासागर तालाब में बोटिंग की शुरुआत की है, साथ ही बोटिंग के लिए सेफ्टी जैकेट की अनिवार्यता भी की गई है। गंगा सागर तालाब में बोटिंग के लिए आने वाले पर्यटक ध्यान ही नहीं देते। सेफ्टी जैकेट भी नहीं पहनते।

4 सीटर में बेठे थे 6 बच्चे
गुरुवार को जब बच्चे तालाब में जिस नाव पर सवार थे वे चार सीटर क्षमता की थी और छह लोग सवार थे। नाव जब बीच तालाब और गहरे पानी में पहुंची तो बच्चे सेल्फ़ी लेने लगे। सभी बच्चे नाव के एक ओर होकर सेल्फी लेने लगे और इधर बोट लहराने लगी। प्रत्यक्षदर्शी रविन्द्र नेताम ने बताया कि जब वह अपने साथियों के साथ परशुराम चौक के पास तिरंगा झंडा को उतार रहे थे तभी तालाब से बचाव बचाव की आवज आने लगी। बच्चों की बोट हिलने लगी थी अगर समय पर बड़ी नाव नहीं आती तो नाव पलट जाती। बड़ी नाव में बारी बारी से बच्चों को बाहर निकाला।

सीएमओ बोले- पर्यटकों की लापरवाही
इस मामले में नगर पालिका सीएमओ रोहित साहू में बताया कि घटना की जानकारी आपके माध्यम से मिल रही है। तालाब में बोटिंग के लिए सेफ्टी जैकेट सहित सभी नियम बताए जाने के बाद भी बोटिंग करने में लापरवाही करते हैं। अब लापरवाह पर्यटकों पर कार्यवाही की जाएगी।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.