स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस सरकारी रेस्ट हाउस में अधेड़ के साथ संदिग्ध मिली युवती, फिर मच गया बवाल

Chandra Kishor Deshmukh

Publish: Nov 12, 2019 08:01 AM | Updated: Nov 11, 2019 23:59 PM

Balod

बालोद जिला मुख्यालय के पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में बीती रात बालोद पुलिस व तहसीलदार ने मुखबिर की सूचना पर छापा मारा। रेस्ट हाउस के तांदुला कक्ष में मुजगहन (धमतरी) के 47 वर्षीय बिल्डर भुनेश सिन्हा व 23 साल की धमतरी और भिलाई में रहने वाली युवती को एक साथ पकड़ा।

बालोद @ patrika . जिला मुख्यालय के पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में बीती रात बालोद पुलिस व तहसीलदार ने मुखबिर की सूचना पर छापा मारा। रेस्ट हाउस के तांदुला कक्ष में मुजगहन (धमतरी) के 47 वर्षीय बिल्डर भुनेश सिन्हा व 23 साल की धमतरी और भिलाई में रहने वाली युवती को एक साथ पकड़ा। पुलिस ने दोनों को रात में ही गिरफ्तार कर पूछताछ की।

न्यायालय ने भेजा जेल
आरोपी बिल्डर ने संजारी बालोद के पूर्व विधायक भैयाराम सिन्हा के नाम से फर्जी आवेदन बनाकर रेस्ट हाउस को बुक कराया था। पुलिस ने सुबह ही आरोपी को न्यायालय में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया। रेस्ट हाउस में बिना जांच पड़ताल के लोगों को जगह देने के कारण इस तरह की गंभीर घटना होती है, विभागीय लापरवाही को दर्शा रही है।

रात 10 बजे रेस्ट हाउस में बोला धावा
पुलिस के मुताबिक मुखबिर ने एएसपी डीआर पोर्ते को सूचना दी थी कि रेस्ट हाउस में कोई व्यक्ति एक लड़की के साथ रुका है। इसके बाद एसडीओपी पीसी श्रीवास्तव, तहसीलदार रश्मि वर्मा व कोतवाली थाना प्रभारी जीआर ठाकुर की टीम रेस्ट हाउस पहंची। रात 10 बजे की गई कार्रवाई में जब अधिकारियों ने रेस्ट हाउस के बंद दरवाजा खटखटाया तो किसी ने उसे नहीं खोला। पुलिस आधे घंटे तक वहीं इंतजार करती रही। फिर रेस्ट हाउस के एक कर्मचारी को बुलाकर दूसरे दरवाजे के ताले को खोलने कहा गया। इसके बाद दूसरे कमरे के दरवाजे से तांदुला कक्ष पहुंचे।

अंदर से बंद था दरवाजा
वहां भी अंदर से दरवाजा बंद था। वहां भी दरवाजा नहीं खोला गया तो धक्का दिया गया। जिससे दरवाजा खुल गया। जब कमरे की बिजली जलाई तो देखा कमरे के अंदर एक लड़की सोई हुई थी और एक व्यक्ति बाथरूम में था। दोनों को पकड़ कर पुलिस थाने ले गई, जहां पूछताछ की गई।

आरोपी बोला-लड़की उसकी रिश्तेदार
पकड़े गए आरोपी भुनेश ने पुलिस को बताया कि लड़की धमतरी की ही रहने वाली है और भिलाई में भी रहती है। वह भानुप्रतापपुर में अपने रिश्तेदार के घर गई थी, उसे फोन करके बालोद बुलाया, फिर रेस्ट हाउस लाया। लड़की उनके रिश्तेदारी व करीबी है।

शाम 6 बजे आया रेस्ट हाउस
मामले में जब रेस्ट हाउस की देखरेख करने वाले गौतम सिन्हा से जानकरी ली तो उन्होंने बताया कि कार से वह रविवार शाम 6 बजे रेस्ट हाउस आया। फिर रेस्ट हाउस का कमरा बुक करने की बात कही। जब मना किया तो जिद करने लगा और अपने आप को पूर्व विधायक भैयाराम सिन्हा का भाई बताने लगा। इसकी जानकारी एसडीएम को फोन पर दी। इसके बाद ही उसे रेस्ट हाउस का कमरा दिया गया। उसके साथ कोई लड़की नहीं थी। लड़की कब और कहां से आई उसे जानकारी नहीं है।

रेस्ट हाउस बुक कर रात में होती है अय्याशी
जिला मुख्यालय का यह रेस्ट हाउस भगवान भरोसे है। यहां कोई भी अपने आप को किसी अधिकारी व किसी नेता विधायक का करीबी बता दे तो जिम्मेदार अधिकारी बिना जांच पड़ताल के ही रेस्ट हाउस का कमरा दे देते हैं। कमरे देने के बाद लोगों की निगरानी भी नहीं करते आखिर वे है कौन हैं और क्या करते हैं। रेस्ट हाउस के अंदर शराब खोरी की भी जानकारी मिलती रहती है, लेकिन जिम्मेदार अधिकारी की लापरवाही के कारण ही रेस्ट हाउस में इस तरह की गंभीर घटनाएं घट रही हैं।

पूर्व विधायक भैयाराम बोले- मेरी छवि धूमिल करने की कोशिश, सख्त कार्रवाई करें
पूर्व विधायक भैया राम सिन्हा का नाम मामले में आने पर सोमवार को वे एसपी कार्यालय पहुंचे। एसपी को पूरी जानकारी बताई और कहा कि भुनेश सिन्हा नाम का व्यक्ति उनके नाम से उनके बिना जानकारी के ही रेस्ट हाउस को बुक किया। भुनेश सिन्हा नाम का व्यक्ति कौन है, वे भी नहीं जानते हैं। न ही वह मेरा छोटा भाई है। मेरी छवि धूमिल करने के लिए ही ऐसा किया। उक्त व्यक्ति पर कड़ी कार्रवाई की जाए।

रेस्ट हाउस के कर्मचारी ने फोन से दी सूचना
एसडीएम सिल्ली थामस ने कहा रेस्ट हाउस के कर्मचारी ने फोन से सूचना दी थी, जो व्यक्ति आया है, वह खुद को पूर्व विधायक भैयाराम सिन्हा का भाई बता रहा है। इसके बाद व्यक्ति की जानकारी लिया गया, उसके बाद ही रूम अलॉट किया गया। आज अवकाश में हूं, आगे की जानकारी नहीं है।

मामले की जांच जारी
थाना प्रभारी जीआर ठाकुर ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर हमने तहसीलदार, एसडीओपी व पुलिस की टीम ने रेस्ट हाउस में कार्रवाई की। अंदर से आरोपी और लड़की को पकड़ा। दोनों से पूछताछ कर आरोपी के खिलाफ धारा 151, 107, 16 के तहत कार्रवाई की है। आरोपी को जेल भेज दिया है। मामले की जांच जारी है।

[MORE_ADVERTISE1]