स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सरकारी रेस्ट हाउस में रंगरेलियां मनाते अधेड़ बिल्डर के साथ संदिग्ध हालत में मिली युवती, पुलिस ने किया गिरफ्तार, Video

Dakshi Sahu

Publish: Nov 11, 2019 16:33 PM | Updated: Nov 11, 2019 16:33 PM

Balod

पूर्व विधायक भैय्या राम सिन्हा ने नाम से फर्जी आवेदन देकर सरकारी रेस्ट हाउस में रंगरेलियां मनाते अधेड़ बिल्डर और युवती को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। (Balod police)

बालोद. पूर्व विधायक भैय्या राम सिन्हा (Promer MLA Balod Bhiya ram sinha)ने नाम से फर्जी आवेदन देकर सरकारी रेस्ट हाउस (Government Rest house Balod)में रंगरेलियां मनाते अधेड़ बिल्डर और युवती को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर रविवार रात जिला मुख्यालय के पुराने रेस्ट हाउस में छापा मारा। पुलिस आने की सूचना मिलते ही संदिग्ध जोड़े ने अंदर से दरवाजा बंद कर दिया। काफी मशक्कत के बाद भी जब दरवाजा नहीं खोला तो पुलिस जवानों ने दारवाजा तोड़कर दोनों को कमरे से बाहर निकाला। बिल्डर और युवती को गिरफ्तार करके पुलिस ने सोमवार सुबह न्यायालय में प्रस्तुत किया। (Balod crime news)

[MORE_ADVERTISE1] [MORE_ADVERTISE2]

रेस्ट हाउस पहुंची महिला तहसीलदार
संदिग्ध घटनाक्रम की सूचना मिलते ही रविवाद देर रात महिला तहसीलदार रश्मि वर्मा, बालेाद थाना प्रभारी जीएल ठाकुर और एसडीओपी पीसी श्रीवास्तव टीम बनाकर रेस्ट हाउस पहुंचे। लगभग 12 बजे तक दरवाजा खटखटाते रहे। जब अंदर से कोई हरकत नहीं हुई तब दरवाजा तोड़ा गया। पुलिस ने बताया कि रेस्ट हाउस के तांदुला कक्ष से धमतरी के मुजगहन निवासी 47 वर्षीय तुलेश सिन्हा और भिलाई निवासी 23 वर्षीय युवती को गिरफ्तार किया गया है।

[MORE_ADVERTISE3]सरकारी रेस्ट हाउस में रंगरेलियां मनाते अधेड़ बिल्डर के साथ संदिग्ध हालत में मिली युवती, पुलिस ने किया गिरफ्तार, Video

एसडीएम के कहने पर अलॉट हुआ था कमरा
बालोद सरकारी रेस्ट में छापेमार कार्रवाई के बाद जब पुलिस ने आरोपी बिल्डर से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसे कमरा एसडीएम के कहने पर अलॉट हुआ था। इधर पूरे मामले में पूर्व विधायक भैय्या राम सिन्हा ने बयान जारी करते हुए कहा कि वह आरोपी को नहीं जानते। पुलिस को आवेदन देकर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। उन्होंने कहा कि उनके नाम का दुरूपयोग किया गया है। छवि धूमिल करने का प्रयास किया गया है।