स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यह समुद्र किनारा नहीं तांदुला जलाशय है

Chandra Kishor Deshmukh

Publish: Sep 15, 2019 08:05 AM | Updated: Sep 15, 2019 00:18 AM

Balod

 

यह कोई समुद्र का किनारा नहीं बल्कि यह तांदुला जलाशय की तराई है। इन दिनों तांदुला जलाशय लबालब भरा हुआ है। तांदुला जलाशय का यह तट किसी समुद्री किनारा का एहसास कराता है। इन दिनों लोग तांदुला जलाशय के तट में परिवार के साथ घूमने आकर सेल्फी व फोटोग्राफी भी कर रहे हैं।

 

बालोद @ patrika. यह कोई समुद्र का किनारा नहीं बल्कि यह तांदुला जलाशय की तराई है। इन दिनों तांदुला जलाशय लबालब भरा हुआ है। तांदुला जलाशय का यह तट किसी समुद्री किनारा का एहसास कराता है। इन दिनों लोग तांदुला जलाशय के तट में परिवार के साथ घूमने आकर सेल्फी व फोटोग्राफी भी कर रहे हैं।

पर्यटक पहुंचने लगे जलाशय के खतरनाक प्रतिबंधित क्षेत्रों तक
जिले के सबसे बड़े व तीन जिले की जीवनदायिनी तांदुला जलाशय इन दिनों लबालब भरा हुआ है। तांदुला जलाशय की खूबसूरती को देखने के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक आ रहे है। पर्यटकों की लापरवाही रोकने के लिए नगर सैनिक गोताखोर व पुलिस सिपाही तैनात कर दिए हैं।

यह समुद्र किनारा नहीं तांदुला जलाशय है
IMAGE CREDIT: balod patrika

ओवरफ्लो की दीवार पर चला रहे साइकिल
सुरक्षा में लगे सुरक्षा कर्मियों की अनदेखी कर पर्यटक प्रतिबंधित और खतरनाक क्षेत्र पर जाने से बाज नहीं आ रहे हैं। लापरवाही इतनी बढ़ गई है कि पर्यटक तांदुला जलाशय के ओवरफ्लो की दीवार में साइकिल से जाने लगे हैं। इसी तरह 50 फीट ऊंची दीवार से बाइक नीचे उतारने से भी बाज नहीं आ रहे है। पर्यटकों की यह जरा सी चूक से बड़ी दुर्घटना हो सकती है। सुरक्षा में लगे सुरक्षा कर्मियों की मानें तो रोकटोक के बाद भी पर्यटक नहीं मानते और लापरवाही करते हैं।

50 फीट की ऊंचाई से नीचे उतार दी बाइक
सुरक्षा कर्मी के सामने ही एक लापरवाह पर्यटकों ने तो मना करने के बाद भी बाइक नीचे उतार दी। अब ऐसे पर्यटकों को क्या किया और कहा जाए।