स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सड़क पर बैठे बेजुबान मवेशियों पर ट्रक चालक ने बेदर्दी से दौड़ा दी ट्रक, 6 की मौके पर मौत

Chandra Kishor Deshmukh

Publish: Aug 19, 2019 08:01 AM | Updated: Aug 18, 2019 23:15 PM

Balod

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार की नरवा, गरूवा, घुरवा और बारी योजना का लाभ ग्रामीणों को नहीं मिल रहा है। सरकार द्वारा गौठान बनाने के बाद मवेशी कैसे सड़क पर विचरण कर रहे हैं यह सबसे बड़ा सवाल है? आवारा मवेशियों के कारण न सिर्फ दोपहिया वाहन चालक दुर्घटनना के शिकार हो रहे हैं बल्कि बेजुबान पशुओं की जान भी जा रही है।

बालोद @ patrika . छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार की नरवा, गरूवा, घुरवा और बारी योजना का लाभ ग्रामीणों को नहीं मिल रहा है। सरकार द्वारा गौठान बनाने के बाद मवेशी कैसे सड़क पर विचरण कर रहे हैं यह सबसे बड़ा सवाल है? आवारा मवेशियों के कारण न सिर्फ दोपहिया वाहन चालक दुर्घटनना के शिकार हो रहे हैं बल्कि बेजुबान पशुओं की जान भी जा रही है।

सिवनी मोड़ पर 7 मवेशियों को ट्रक ने कुचला
ताजा मामला जिला मुख्यालय से दो किलोमीटर दूर ग्राम सिवनी का है। सड़क पर बैठे 7 मवेशियों को ट्रक ने बेदर्दी के साथ कुचल दिया जिससे 6 मवेशियों की मौके पर मौत हो गई वहीं एक मवेशी गंभीर है। मौके पर पुलिस की टीम पहुंची और सड़क पर बिखरे मवेशी की मृत शरीर को हटाया और पीएम के लिए पानाबरस डिपो वे जाया गया। दुर्घटना के बाद चालक ट्रक सहित फरार हो गया था जिसे पुलिस ने नाकेबंदी कर गुंडरदेही में पकड़ा।

रात 11 बजे पकड़ाया चालक
दुर्घटना में छह मवेशियों की मौत की सूचना मिलते ही पुलिस ने गुंडरदेही गुरुर मार्ग में नाकाबंदी के निर्देश दिए। रात 11 बजे गुंडरदेही के पास ट्रक पकड़ा गया। आरोपी चालक भागने की फिराक में था जिसे पुलिस ने पकड़ लिया। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

बालोद से चना लेकर बिहार जाने निकला था ट्रक
मिली जानकारी के मुताबिक ट्रक क्रमांक सीजी 04 एमआर 6 258 के चालक अरविंद कुमार 30 साल निवासी रायपुर (ट्रांसपोर्ट नगर) बालोद से ट्रक में चना लोडकर बिहार के लिए निकला था। सिवनी ढाबा के पास सड़क पर बैठे मवेशियों को बेदर्दी से कुचलते हुए आगे बढ़ गया। घटना की जानकारी मिलते ही बालोद पुलिस पहुंची और सड़क पर बिखरे मवेशी के शव को हटाकर आवागमन को बहाल किया।

बाइक चालक बाल बाल बचा
प्रत्यक्षदर्शी राहुल ने बताया कि वह घटनास्थल शेर ए पंजाब ढाबा के पास ही था। तेज रफ्तार ट्रक हार्न बजाते निकला था पहले एक बछड़े को चपेट में लिया फिर सड़क पर बैठे मवेशियों को रौंदते हुए आगे निकल गया। इसी दौरान दो मोटर साइकिल सवार बालोद से झलमला की और जा रहे थे। वे भी तेज रफ्तार ट्रक की चपेट में आने से बाल-बाल बच गए वरना बड़ी दुर्घटना हो सकती थी।

दो दिन में दो सड़क दुर्घटना
बीते शुक्रवार की रात को भी मवेशियों के झुंड से टकराने से दो मोटर साइकिल चालक घायल हुए थे। शहरवासियों को समझ में नहीं आ रहा है कि इतनी संख्या में मवेशी कहां से आ रहे हैं। सरकार की गौठान योजना के बाद जहां किसान आवारा मवेशियों से परेशान है वहीं लोग भी दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं।