स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

29 करोड़ के 18 कामों की निविदा पर विरोध में उतरे ठेकेदार

Chandra Kishor Deshmukh

Publish: Sep 14, 2019 08:33 AM | Updated: Sep 14, 2019 00:24 AM

Balod

सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग द्वारा 29 करोड़ रुपए की लागत से 18 कार्यों की निविदा को निरस्त और पीडब्ल्यूडी की सामान्य शर्तों पर निविदा आमंत्रण की मांग को लेकर कांट्रेक्टर एसोसिएशन ने विरोध प्रदर्शन किया।

बालोद @ patrika. सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग द्वारा 29 करोड़ रुपए की लागत से 18 कार्यों की निविदा को निरस्त और पीडब्ल्यूडी (PWD) की सामान्य शर्तों पर निविदा आमंत्रण (Invitation to tender) की मांग को लेकर कांट्रेक्टर एसोसिएशन (Contractor association) ने विरोध प्रदर्शन किया।

बुलाई गई निविदा में गंभीर त्रुटियां
छत्तीसगढ़ कांट्रेक्टर एसोसिएशन के बालोद जिला इकाई के ठेकेदारों ने बस स्टैंड में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। ठेकेदारों ने कलक्टर को लिखित शिकायत में बताया है कि सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग बालोद द्वारा बुलाई गई निविदा में गंभीर त्रुटियां हैं।

शिकायत में इस तरह की त्रुटियां बताई गई
पीडब्ल्यूडी के एसओआर के अनुसार प्राक्कलन तैयार कर विभाग द्वारा प्रशासकीय स्वीकृति प्राप्त की गई हैं। अत: प्रदेश में अन्य जगहों में आमंत्रित निविदा पीडब्ल्यूडी के मैन्युअल की सामान्य शर्तों के अनुसार ही निविदा आमंत्रित किए जाने का प्रावधान हैं जिसका पालन नहीं किया गया जो गंभीर मामला हैं। निविदा प्रपत्र प्राप्ति एवं आनलाइन डाउनलोड की तिथि अलग-अलग दिख रही हैं। जिसमें सुधार किया जाना था। पीडब्ल्यूडी के किसी भी मैन्युअल में अग्रिम धन के साथ 10 प्रतिशत राशि का एफडीआर भेजने को नहीं कहा गया हैं, जो सामान्य शर्तों में संभव नहीं हैं, क्योकि 18 कार्यों में डाली जाने वाली निविदा में यह राशि सामान्य ठेकेदारों के वश की बात में नही हैं और नियम अनुसार भी नही हैं।

दूसरी बार की निविदा में 105 फार्म आए जिसे रद्द कर दिया
केवल दो कार्यों की निविदा स्वीकार्य किए जाने की शर्तें पीडब्ल्यूडी मैन्युअल द्वारा निर्धारित नहीं की गई हैं। एक समय में डी और सी श्रेणी के लिए श्रेणी क्षमता से ढाई गुना कार्य किएजाने का प्रावधान हैं। श्रेणी बी और ए के लिए कार्य क्षमता निर्धारित नहीं की गई हैं। परंतु आपके द्वारा कंडीशन लगाए जाना नियम विरुद्ध हैं। द्वितीय बार बुलाई गई निविदा जिसमें 105 फार्म आए थे, उनको निर्धारित तिथि में नहीं खोलकर अचानक रद्द करने का स्पष्ठ कारण नहीं बताया गया। फिर उसी काम के लिए नया नियम बनाकर तृतीय आमंत्रण लगाया गया, जो नियम विरुद्ध हैं।

तीसरी बार निविदा खोलकर कार्यादेश की तैयारी
पीडब्ल्यूडी मेन्युअल के विरुद्ध अन्य शर्तों को लगाकर फॉर्म-ए में निविदा बुलाया जाना नियमपूर्ण नहीं हैं। आमंत्रित निविदा शर्ते 13 में अनुबंध पीडब्ल्यूडी शर्तों के माध्यम से किया जाना बताया गया उसका पालन आवश्यक हैं। इस प्रकार निविदा में विभिन्न प्रकार की शर्तों को लगाने से निविदा में प्रतिस्पर्धा की कमी होगी। जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण तृतीय निविदा आमंत्रण में देखने को मिला। जिससे शासन को आर्थिक हानि होगी। जिसकी समस्त जिम्मेदारी सहायक आयुक्त आदिवासी बालोद की होगी। वर्तमान में तृतीय निविदा आमंत्रण में प्राप्त निविदा को खोलकर कार्यादेश दिया जाता हैं, तो इस प्रकरण को ईओडब्ल्यू को सौंपकर कार्यवाही करने प्रकरण भेजा जाएगा।

पीडब्ल्यूडी की सामान्य शर्तों में हो निविदा
छग कांट्रेक्टर एसोसिएशन द्वारा बताए गए त्रुटियों को देखते हुए लगभग 29 करोड़ रुपए की 18 कार्यों की निविदा कार्यों को तत्काल निरस्त करने की मांग ठेकेदारों द्वारा की गई है। पीडब्ल्यूडी के सामान्य शर्तों पर प्रदेश में अन्य स्थानों के अनुसार निविदा आमंत्रित करने की भी मांग की हैं। ठेकेदारों में प्रमुख रूप से छग कांट्रेक्टर एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष बिरेश शुक्ला, बालोद जिलाध्यक्ष जाहिद अहमद खान, मोती गोयल, रिंकू शर्मा, गिरजेश गुप्ता एवं अन्य ठेकेदार मौजूद रहे।