स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अब जिला अस्पताल में रक्तदान भी होगा और स्टोरेज भी कर सकेंगे, जरूरतमंद मरीजों को मिलेगी राहत

Chandra Kishor Deshmukh

Publish: Jul 18, 2019 08:10 AM | Updated: Jul 17, 2019 23:29 PM

Balod

जिला मुख्यालय स्थित शासकीय अस्पताल में अब अपना खुद का ब्लड बैंक होगा। केंद्र सरकार ने यहां ब्लड बैंक खोलने की अनुमति दे दी है। इससे न सिर्फ रक्तदान कर सकेंगे बल्कि दान से मिले रक्त को स्टोरेज भी किया जाएगा, जिससे इमरजेंसी में किसी भी मरीज को ब्लड के लिए भटकना नहीं पड़ेगा।

बालोद @ patrika . जिला मुख्यालय स्थित शासकीय अस्पताल में अब अपना खुद का ब्लड बैंक होगा। केंद्र सरकार ने यहां ब्लड बैंक खोलने की अनुमति दे दी है। इससे न सिर्फ रक्तदान कर सकेंगे बल्कि दान से मिले रक्त को स्टोरेज भी किया जाएगा, जिससे इमरजेंसी में किसी भी मरीज को ब्लड के लिए भटकना नहीं पड़ेगा।

16 जुलाई 2024 तक के लिए लाइसेंस जारी
वहीं ब्लड डोनेट करने के लिए जिलेवासी सहित मरीज के परिजन को दुर्ग जिला अस्पताल जाने की मजबूरी से भी निजात मिलेगी। बुधवार की शाम जिलेवासियों की पुरानी मांग पूरी होने की खबर से लोगों में खुशी की लहर है। सेंट्रल लाइसेंस एप्रूविंग अथॉरिटी नई दिल्ली तथा राज्य लाइसेंस प्राधिकरण खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग रायपुर द्वारा लाइसेंस प्रदान किया गया है। लाइसेंस 17 जुलाई 2019 से 16 जुलाई 2024 तक के लिए जारी की गई है।

शहर के युवाओं ने किया था बड़ी मात्रा में रक्तदान
मिली जानकारी के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग ने जिले से ब्लड डोनर्सकी सूची मांगे थे। विभाग ने कहा था कि अगर 10 से 15 ब्लड डोनेटर मिल जाए तो जल्द ही जिला अस्पताल के ब्लड बैंक में ब्लड डोनेट शुरू कर दिया जाएगा। इसके बाद शहर के भगत सिंह बिग्रेड के युवाओं ने दुर्ग जिला अस्पताल में जाकर बड़ी मात्रा में ब्लड डोनेट किया था। स्वास्थ्य विभाग और जिले के रक्तदाताओं के सहयोग से ब्लड बैंक में ब्लड डोनेट की अनुमति मिल गई है। आने वाले दिनों में ब्लड डोनेट की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

Read me : आषाढ़ में बेरुखी, अब सावन में अच्छी बारिश की उम्मीद खेतों में हरियाली की जगह पीलापन, बूंदभर पानी नहीं

अब लोग रक्तदान भी कर सकेंगे
बता दें कि जिला अस्पताल के ब्लड बैंक में सिर्फ ब्लड का स्टोरेज ही होता था। दुर्ग जिला अस्पताल से जरूरत के मुताबिक यहां के ब्लड बैंक में ब्लड स्टोर कर रखते थे। अनुमति मिलने के बाद अब ब्लड डोनेट भी होगा और जिला अस्पताल में ही ब्लड डोनेट कर जरूरतमंदों को रक्त भी दिया जा सकेगा। इसके लिए किसी और पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। (patrika balod)

दो दिनों के भीतर ब्लड डोनेट की प्रक्रिया होगी शुरू
जिला अस्पताल बालोद के सिविल सर्जन आरके श्रीमाली ने कहा यह जिलेवासियों के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। अब जिला अस्पताल के ही ब्लड बैंक में ही ब्लड डोनेट किया जाएगा। दो दिनों के भीतर ब्लड डोनेट की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।