स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

महिला SDM ने आधी रात प्राइवेट अस्पताल में मारा छापा, अस्थाई लाइसेंस लेकर कर रहे थे ऑपेरशन, जड़ दिया ताला

Dakshi Sahu

Publish: Sep 19, 2019 13:45 PM | Updated: Sep 19, 2019 13:45 PM

Balod

बालोद के निजी अस्पताल में एसडीएम (Balod SDM)ने गुरुवार रात छापा मारा। जहां नर्सिंग होम एक्ट (Nursing home Act) का खुलेआम उल्लंघन देखकर दस बिस्तर (hospital)अनुष्का अस्पताल में ताला जड़ दिया।

बालोद. अस्थाई लाइसेंस लेकर ओपीडी (OPD) के नाम पर सिजेरियन ऑपरेशन की करने वाले बालोद के निजी अस्पताल में एसडीएम ने गुरुवार रात छापा मारा। जहां नर्सिंग होम एक्ट का खुलेआम उल्लंघन देखकर दस बिस्तर अनुष्का अस्पताल में ताला जड़ दिया। मिली जानकारी के अनुसार लगातार शिकायत के बाद बालोद एसडीएम सिल्ली थॉमस ने सीएमएचओ बीएल रात्रे, बालोद टीआई अमर सिदार और नायब तहसीलदार मनोज भारद्वाज के साथ टीम बनाकर अस्पताल के खिलाफ छापेमार कार्रवाई की। अस्पताल में अव्यवस्था और ऑपरेशन थियेटर में खून के छींटे देखकर एसडीएम ने वहां कार्यरत कर्मचारियों से पूछताछ की। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर दस्तावेजों को जब्त कर लिया। (Balod police)

महिला SDM ने आधी रात प्राइवेट अस्पताल में मारा छापा, अस्थाई लाइसेंस लेकर कर रहे थे ऑपेरशन, जड़ दिया ताला

सिर्फ देनी थी ओपीडी की सुविधा
दस बिस्तर अनुष्का अस्पताल में सिर्फ ओपीडी की सुविधा देनी थी। सीएमएचओ ने बताया कि अस्थाई लाइसेंस लेकर कोई भी नर्सिंग होम या अस्पताल मरीजों का ऑपेरशन नहीं कर सकता। यहां नियमों को दरकिनार करके सीधे सिजेरियन प्रसव कराया जा रहा था। गंभीर लापरवाही के कारण प्रसूता महिलाओं की जान भी जा सकती थी। इसलिए संचालक को नोटिस जारी करते हुए अस्पताल में ताला जड़ दिया गया है।

कलेक्टर के आदेश पर कार्रवाई
एसडीएम सिल्ली थॉमस ने बताया कि सूचना मिली थी कि यह अस्पताल अवैध रूप से संचालित है। जिसके बाद कलेक्टर के आदेश पर तत्काल बालोद पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ छापेमार कार्रवाई की गई। जांच के दौरान दस्तावेज सही नहीं पाए गए। न ही ऑपरेशन करने का स्थायी लाइसेंस संचालक के पास था। इस वजह से अस्पताल को सील कर दिया गया है।