स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जिला मुख्यालय में स्वच्छ भारत अभियान का बुरा हाल

Chandra Kishor Deshmukh

Publish: Nov 10, 2019 08:18 AM | Updated: Nov 09, 2019 23:30 PM

Balod

नगर पालिका क्षेत्र में स्वच्छ भारत अभियान का बुरा हाल है। पालिका प्रशासन द्वारा जागरुकता अभियान के बाद भी नगरवासी साफ-सफाई मामले में उदासीन है। घरों में कचरा एकत्र करने डस्यबिन बांटने एवं घरों से डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन अभियान के बाद भी लोग बाहर कचरा फेंकने से बाज नहीं आ रहे हैं।

बालोद @ patrika . नगर पालिका क्षेत्र में स्वच्छ भारत अभियान का बुरा हाल है। पालिका प्रशासन द्वारा जागरुकता अभियान के बाद भी नगरवासी साफ-सफाई मामले में उदासीन है। घरों में कचरा एकत्र करने डस्यबिन बांटने एवं घरों से डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन अभियान के बाद भी लोग बाहर कचरा फेंकने से बाज नहीं आ रहे हैं। यहीं कारण है कि स्वच्छ भारत अभियान में नगर पालिका प्रशासन के सहयोग के बाद भी नगर में गंदगी फैली रहती है। सफाई रैंक में यहां का नंबर ही नहीं आ रहा है।

4 टन कचरा निकल रहा कचरा
नगर पालिका द्वारा रोजाना नगर की सफाई कराई जाती है। इस सफाई से रोज लगभग 4 टन कचरा निकल रहा है। इनमें नाली और मोहल्लों के कचरे भी शामिल है। नगर में प्रतिदिन सबसे ज्यादा कचरा बुधवारी बाजार, बस स्टैंड और सदर मार्ग में निकलता है। सफाई कामगारों का ज्यादा वक्त सफाई के बजाएकरचा निकालने में बीत जाता है। जिसके चलते कई वार्डों में नियमित सफाई नहीं हो पाती है।

नगर की सफाई पर हर माह 3 लाख खर्च
जानकारी के मुताबिक नगर के 20 वार्डों की सफाई के लिए नगर पालिका हर माह लगभग तीन लाख खर्च करती है। जिसमें से कचरा सफाई में लगे नियमित और अस्थाई कामगार, ट्र्रैक्टर, मशीन और ईंधन शामिल है। इतनी राशि खर्च करने के बाद भी नगर स्वच्छ और सुंदर नजर नहीं आ रहा है।

डोर-टू-डोर कचरा उठाने की जिम्मेदारी महिला स्वसहायता समूहों को
नगर पालिका प्रशासन द्वारा शहर को स्वच्छ बनाने एवं डोर-टू-डोर कचरा उठाने महिला स्व सहायता समूहों को जिम्मेदारी दी है। समूह के कामगार घर-घर जाकर कचरा इकट्ठा कर रहे हैं। इसके बाद भी शहर के गली मोहल्लों से कचरा कम नहीं हो रहा है। आलम यह है कि गली-गली कचरा वाहन पहुंचने के बाद भी लोग सड़क एवं पालिका की नालियों में कचरा फेंकने से बाज नहीं आ रहे। जिला मुख्यालय के ऐसे कई मोहल्ले है जहां लोग कचरा गाड़ी को कचरा देते हैं उसके जाने के बाद घरों से निकलने वाले कचरे को नालियों और गलियों में ही फेंक देते है।

कचरा फैलाने वाले 10 लोगों पर कार्रवाई, जारी रहेगा अभियान
नगर पालिका ने अब तक कचरा फैलाने वाले 10 लोगों के खिलाफ चालानी कार्रवाई हर्जाना वसूला गया है। इनमें में गली और नाली में कचरा फेंकने वाले शामिल है। सफाई निरीक्षक पूर्णानंद आर्य ने बताया कि गली, मोहल्ले और नालियों में कचरा फेंकते पकड़े जाने पर चलानी कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि यह अभियान आगे भी जारी रहेगा। बालोद को स्वच्छ सुंदर बनाने में जब तक नगर के सभी लोग जागरूक नहीं होंगे तब तक कार्रवाई जारी रहेगी।

कचरा निर्धारित स्थल पर ही फेंके
नगर पालिका प्रशासन ने लोगों से सफाई अभियान में सहयोग देने और कचरा निर्धारित स्थल पर ही फेंकने की अपील की है। लोग अपने घरों के कचरे को कचरा पेटी में ही डाले। इसी तरह डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन करने वाले कामगार को ही कचरा दें।

[MORE_ADVERTISE1]