स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हत्या के बाद सकरौद में हुए बलवा के फरार 13 आरोपी गिरफ्तार

Chandra Kishor Deshmukh

Publish: Jan 13, 2020 23:39 PM | Updated: Jan 13, 2020 23:39 PM

Balod

रनचिरई थाने के ग्राम सकरौद में 2 जनवरी को हुए बलवा के मामले में 13 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार सकरौद निवासी शत्रुहन उर्फ मानू सतनामी ने अचानक आवेश में आकर गांव के ललित ठाकुर की कनपटी पर टंगिया से मारकर हत्या कर दी थी।

बालोद @ patrika . रनचिरई थाने के ग्राम सकरौद में 2 जनवरी को हुए बलवा के मामले में 13 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार सकरौद निवासी शत्रुहन उर्फ मानू सतनामी ने अचानक आवेश में आकर गांव के ललित ठाकुर की कनपटी पर टंगिया से मारकर हत्या कर दी थी। आरोपी को पुलिस शासकीय वाहन से थाना ले जाने की तैयारी कर रही थी, उसी दौरान आक्रोशित ग्रामीणों ने आरोपी को उन्हें सौंपने की मांग की।

शासकीय कार्य में पहुंचाया बाधा
उन्होंने रास्ता रोककर शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाया। गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी देते हुए ईंट, पत्थर एवं लाठी डंडा से मारपीट की। शासकीय वाहन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। रनचिरई थाने में धारा 341, 294, 506, 147, 149, 186, 332, 353, 427 के तहत मामला दर्ज किया गया था। सभी आरोपी फरार हो गए थे।

आरोपियों को पकडऩे बनाई गई थी विशेष टीम, अब भी अन्य आरोपी हैं फरार
पुलिस अधीक्षक एमएल कोटवानी के निर्देश और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डीआर पोर्ते के मार्गदर्शन में विशेष टीम बनाई गई। टीम ने आरोपी नारद राम देशमुख पिता रेखलाल देशमुख (37), भुनेश्वर उर्फ गुलेश्वर ढीमर पिता सुन्हेर (31), नरेश निर्मलकर पिता अन्नू निर्मलकर (28), भूपेन्द्र देशमुख पिता प्रेमलाल (28), योगेश देशमुख पिता नकुलराम (24), तेजराम ठाकुर पिता चुन्नूराम ठाकुर (40), सीमान्त साहू पिता युवराज सिंह साहू (22), गजेन्द्र यादव पिता खुंटेश यादव (20), रीवन ठाकुर पिता तुकाराम ठाकुर (24), खोमनलाल देशमुख उर्फ खुमान पिता उदेराम (51), टेकराम ठाकुर पिता बलद ठाकुर (34), पूरनलाल चतुर्वेदी पिता रामलाल (20), कोमल ढीमर पिता रामकुमार ढीमर (20) साकिन बघेरा दुर्ग जिला दुर्ग हाल पता ग्राम सकरौद को गिरफ्तार किया गया। अजमानतीय प्रकरण होने से ज्युडिशियल रिमांड पर न्यायालय गुंडरदेही भेजा गया। पूर्व में प्रकरण के 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में भेजा गया था। अब भी अन्य आरोपी फरार हैं।

[MORE_ADVERTISE1]