स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पंच के 2864 पदों में निर्विरोध, बचे 3950 पदों पर 10151 प्रत्याशी चुनावी मैदान में

Chandra Kishor Deshmukh

Publish: Jan 10, 2020 23:15 PM | Updated: Jan 10, 2020 23:15 PM

Balod

बालोद जिले में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में नाम वापसी के बाद अब प्रत्याशियों की स्थिति स्पष्ट हो गई है। जिले में तीन चरणों मे होने वाले जिला पंचायत, जनपद पंचायत और सरपंच व पंच चुनाव के लिए अब प्रचार प्रसार भी शुरू हो गया है।

बालोद @ patrika. जिले में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में नाम वापसी के बाद अब प्रत्याशियों की स्थिति स्पष्ट हो गई है। जिले में तीन चरणों मे होने वाले जिला पंचायत, जनपद पंचायत और सरपंच व पंच चुनाव के लिए अब प्रचार प्रसार भी शुरू हो गया है। बालोद जिले के 335 ग्राम पंचायतों में सरपंच पदों के लिए होने वाले चुनाव में 12 ग्राम पंचायतों में सरपंच का चुनाव नहीं होगा। यहां पर ग्रामीणों ने निर्विरोध सरपंच चुन लिया है।

पंच के लिए 10,151 प्रत्याशी चुनावी मैदान
बालोद इस मामले में संभवत: प्रदेश का पहला जिला होगा जहां एक दर्जन ग्राम पंचायतों में सरपंच निर्विरोध चुने गए हैं। इसी तरह जिले के 335 ग्राम पंचायतों के 6841 वार्डो में से 2864 वार्ड में पंच निर्विरोध चुन लिए गए हंै। जिले में जिला पंचायत के 14, जनपद पंचायत के 101, सरपंच के 335 और पंच के 6291 पद है। कुल 6841 पदों में से 3950 पद पर 10,151 प्रत्याशी चुनावी मैदान में है।

इस गांव में सिर्फ दो वार्ड में होगा चुनाव, सरपंच सहित 8 पंच निर्विरोध
बालोद विकासखंड के ग्राम पंचायत पर्रेगुड़ा में ग्रामीणों में मिसाल पेश की है। ग्रामीणों ने बैठक लेकर सर्वसम्मति से गांव की बिमला बाई को निर्विरोध सरपंच चुन लिया है। ग्राम विकास समिति अध्यक्ष महेंद्र तारम ने बताया हम लोग गांव को आदर्श ग्राम बनाना चाहते है। ग्रामीणों की एकजुटता और सभी की सहमति से बिमला निर्विरोध सरपंच बनाया गया है। ग्राम के 12 वार्डों में से 10 वार्डों में पंच भी निर्विरोध चुने गए है। यहां मात्र दो वार्ड में ही पंच का चुनाव होगा। इस वार्ड में भी निर्विरोध की स्थिति थी किंतु ग्रामीण ने जोर दिया चुनाव कराकर पंच चुनेंगे।

गांव के विकास पर पूरा ध्यान
निर्विरोध चुनी गई सरपंच बिमला ने बताया वह बहुत खुश है कि ग्रामीणों ने भरोसा जताया है। पूरे कार्यकाल में गांव का विकास और जनता के हित में काम करूंगी।

जिले के 12 पंचायतों में नहीं होगा सरपंच का चुनाव
जिला निर्वाचन अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक जिले में कुल 335 ग्राम पंचायतों में से 12 ग्राम में सरपंच का चुनाव नहीं होगा। वहां ग्रामीणों ने मिलकर आपसी सहमति से सरपंच चुन लिए है। जिले में 423 सरपंच पदों के लिए 1776 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है।

जिला पंचायत के 55 और जनपद के 345 प्रत्याशी मैदान में
इसी तरह जिले में पंच के 6 291 पद में से 3,414 पदों के लिए कुल 7975 प्रत्याशी मैदान में है। जनपद पंचायत सदस्य के 101 पदों में दो पद पर निर्विरोध जनपद सदस्य चुने गए हैं। कुल 99 जनपद सदस्यों के लिए 345 प्रत्याशी मैदान में है। 14 जिला पंचायत सदस्यों के लिए कुल 55 प्रत्याशियों के बीच मुकाबला होगा।

डौंडीलोहारा में सबसे ज्यादा 6 सरपंच निर्विरोध
जिले के डौंडीलोहारा विकास खंड के जनपद क्षेत्र के 6 ग्राम पंचायतों में निर्विरोध सरपंच का चुनाव कर लिया गया है। इसी तरह बालोद ब्लाक के एक, डौंडी ब्लाक के दो, गुरुर ब्लॉक के एक और गुंडरदेही ब्लाक के दो गांव में सरपंच का चुनाव निर्विरोध कर लिया गया है।

जिले के दो जनपद सदस्य निर्विरोध
जिले के पांच जनपद के कुल 101 सदस्यों में से दो सदस्य निर्विरोध चुने गएहैं। जिले के 99 जनपद सदस्य क्षेत्रों के लिए ही चुनाव होगा।

[MORE_ADVERTISE1]