स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यहां ब्लॉक मुख्यालय में बनेगा 100 बिस्तर का सुविधायुक्त अस्पताल

Chandra Kishor Deshmukh

Publish: Aug 11, 2019 08:25 AM | Updated: Aug 11, 2019 00:21 AM

Balod

डौंडीलोहारा ब्लॉक मुख्यालय में महिला एवं बाल विकास व समाज कल्याण मंत्री अनिला भेडिय़ा ने ढाई करोड़ की लागत से एक सर्वसुविधायुक्त 100 बिस्तर अस्पताल की सौगात दी है। उन्होंने नगरवासियों को जल्द ही अस्पताल भवन निर्माण शुरू करने का भरोसा दिलाया है

बालोद/डौंडीलोहारा @ patrika. ब्लॉक मुख्यालय में महिला एवं बाल विकास व समाज कल्याण मंत्री अनिला भेडिय़ा ने ढाई करोड़ की लागत से एक सर्वसुविधायुक्त 100 बिस्तर अस्पताल की सौगात दी है। उन्होंने नगरवासियों को जल्द ही अस्पताल भवन निर्माण शुरू करने का भरोसा दिलाया है।

ग्रामीण स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए डौंडीलोहारा के अस्पताल पर निर्भर
मंत्री भेडिय़ा ने पत्रिका से विशेष चर्चा की। उन्होंने बताया कि डौंडीलोहारा बीजेपी शासन में उपेक्षित रहा है। यहां दूरस्थ वनांचलों में कई ऐसे गांव है जहां के ग्रामीण स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए डौंडीलोहारा के अस्पताल पर निर्भर है। अस्पताल में आधुनिक सुविधाओं का अभाव है। गंभीर मरीजों को इलाज के लिए शहर के निजी अस्पतालों का सहारा लेना पड़ता है। इन समस्याओं को ध्यान में रखते हुए यहां एक सर्वसुविधायुक्त आधुनिक अस्पताल का निर्माण उनकी प्राथमिकता थी जो अब पूरा होने जा रहा है।

स्थल चयन प्रक्रिया शुरू
डौंडीलोहारा में अस्पताल बनाने व अन्य आवश्यक कार्यवाही के लिए मंत्री ने स्थल चयन व अन्य प्रक्रियाओं को पूरा करने आवश्यक दिशा निर्देश दिए है। उन्होंने अस्पताल भवन निर्माण को समय पर पूरा करने सहित सभी आवश्यक सुविधाओं की व्यवस्था के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिएहैं।

आसपास के ग्रामीणों को मिलेगी स्वास्थ्य सुविधा
ब्लॉक मुख्यालय में अस्पताल निर्माण से दूरदराज के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को इसका लाभ मिलेगा। ब्लॉक मुख्यालय से 35 से 40 किलोमीटर दूर बसे कर्रेगांव, कर्तुटोला, मंगचुआ जैसे दूरस्थ वनांचल क्षेत्र के ग्रामीण भी चिकित्सा सुविधाओं का लाभ ले सकेंगे।

नगरवासियों ने जताया आभार
मंत्री की इस घोषणा के बाद नगर सहित आसपास के ग्रामीणों ने उनका आभार जताया है। आभार जताने वालों में संबलपुर, अछोली, कसही, बटेरा, मालीघोरी, भवरमरा, अरजपुरी, रेंगाडबरी, मंगचुवा गांव के ग्रामीणों सहित अनिल लोढा, ताराचंद लोढा, हस्तीमल सांखला, राकेश सांखला, गोपी साहू, विकास जैन, सुरेश सांखला, संजय गुप्ता आदि शामिल है।

Read More : अर्जुंदा का यह अस्पताल बीमार है, कैसे आप भी जानें

आधुनिक उपकरणों से होगा उपचार
महिला एवं बाल विकास एवं समाज कल्याण मंत्री अनिला भेडिय़ा ने कहा कि यहां के अस्पताल में शहरों की तरह विशेषज्ञ डॉक्टरों सहित आधुनिक चिकित्सा उपकरण की सुविधा मिलेगी। सभी प्रकार की बीमारियों का इलाज संभव हो सकेगा। लोगों को अन्स शहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।