स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मनरेगा के कार्यों में गड़बड़ी करने वाले 10 मेट बर्खास्त

Chandra Kishor Deshmukh

Publish: Sep 22, 2019 08:12 AM | Updated: Sep 21, 2019 23:54 PM

Balod

गुंडरदेही विकासखंड के ग्राम पंचायत रनचिरई में रोजगार सहायिका व सचिव दिनेश निषाद के मनरेगा के कार्यों में गड़बड़ी में साथ देने वाले 10 मेट को दो दिन के भीतर बर्खास्त करने के निर्देश गुंडरदेही जनपद सीईओ ने दिए हैं।

बालोद @ patrika. गुंडरदेही विकासखंड के ग्राम पंचायत रनचिरई में रोजगार सहायिका व सचिव दिनेश निषाद के मनरेगा के कार्यों में गड़बड़ी में साथ देने वाले 10 मेट को दो दिन के भीतर बर्खास्त करने के निर्देश गुंडरदेही जनपद सीईओ ने दिए हैं।

जांच में शिकायत सही पाई गई
रोजगार सहायिका बिंदु साहू व सचिव दिनेश निषाद पर उचित कार्रवाई करने जिला पंचायत को प्रतिवेदन भेज दिया है। बीते माह ग्राम रनचिरई के ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत में मनरेगा के कार्यों में गड़बड़ी की शिकायत की थी। जांच में शिकायत सही पाई गई। अब दोषियों पर भी कार्रवाई शुरू हो गई है।

रोजगार सहायिका ने मानी गलती, अब भरेंगी राशि
जनपद सीईओ शैलेष भगत ने बताया कि मामले की जांच पांच सदस्यीय टीम ने 5 सितंबर को की थी। जांच रिपोर्ट में गड़बड़ी पाई गई है। वहीं रोजगार सहायिका बिंदु साहू ने भी अपनी गलती मानी और गड़बड़ी की भी भरपाई करेंगी।

इन मेटों को किया बर्खास्त
जनपद सीईओ ने ग्राम पंचायत में रोजगार सहायिका की ओर से रखे गए 10 मेट जो मनरेगा के कार्य को देखते थे। उसे बर्खास्त किया गया है। जिसमें ग्राम के शिव कुमार, अमोली राम, रामप्रकाश, पलटू राम, डोमन लाल, हितेंद्र, सीता राम, रमेश, घनश्याम, नीतेश कुमार शामिल हैं।

सोशल आडिट में पहले हुआ था खुलासा
सोशल आडिट की टीम ने गांव में विशेष ग्राम सभा आयोजित कर मनरेगा के तहत हुई गड़बड़ी को ग्रामीणों के सामने लाया और लाखों की गड़बड़ी भी निकली थी। जिसके बाद ग्रामीणों ने कलक्टर से मामले की जांच कर गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। बाद में जांच हुई और अब कार्रवाई शुरू हुई है।