स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सुकन्या समृद्धि योजना में लाखों का गोलमाल, हंगामा मचा तो लीपापोती में जुटे अधिकारी

Akhilesh Kumar Tripathi

Publish: Dec 05, 2019 16:31 PM | Updated: Dec 05, 2019 16:31 PM

Ballia

उच्चस्तरीय जांच की मांग, बांसडीह कोतवाली के हुसैनाबाद डाकघर का मामला

बलिया. बांसडीह थाना क्षेत्र के हुसेनाबाद डाकघर में सुकन्या समृद्धि योजना के खाते से 15 लाख से अधिक के गोलमाल का मामला सामने आया है । आरोप है कि तीस से अधिक बालिकाओं के खाते के रूपये कर्मचारियों ने हड़प लिये हैं । खाताधारकों ने लीपापोती का आरोप लगाते हुये घोटाले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है, जिसके बाद अधिकारियों ने जांच का निर्देश दिया गया है। लोगों का आरोप है कि उच्चस्तरीय जांच में कई अन्य लोगों के खातों से घोटाले की धनाराशि पचास लाख से उपर तक जा सकती हैं।


हुसेनाबाद गांव के शिवशक्ति कुमार की पत्नी मनीषा तिवारी ने वर्ष 2017 के जून माह में अपनी पुत्री सान्वी के नाम से कन्या सुमंगला योजना के तहत दस हजार रूपये प्रतिमाह का खाता खोला गया। मनीषा प्रतिमाह दस हजार रूपये अपने खाते में जमा करने लगी। डाकघर से मिले पासबुक पर रूपये की इन्ट्री के साथ ही मुहर लगा दिया जाता था। वर्ष 2019 के जून माह में कर्मचारी के अनयत्र चले जाने के बाद मनीषा ने खेवसर डाकघर में जाकर अपने खाते में रूपया जमा करना चाहा तो उन्हे बताया गया कि उनके खाते में मात्र नब्बे हजार रूपया ही जमा हैं। जबकि पासबुक में दो लाख चालीस हजार रूपये लिखा हुआ था। मनीषा तिवारी ने मामले में पीएम नरेन्द्र मोदी, सीएम योगी आदित्यनाथ व डाक, संचार मंत्री व डाकघर के बड़े अधिकारियों से शिकायत किया। घोटाले की सूचना पर हुसेनाबाद गांव के लोग जिनका खाता था, उन्होंने भी दूसरी जगह जाकर चेक कराया तो उनके खाते से भी रूपया गायब मिला। किसी के खाते में से बीस तो किसी से चालीस हजार तो किसी के पचास हजार गायब मिले । कुल तीस खातों से 15 लाख से अधिक रूपये गायब हैं।


सीबीआई से जांच कराने की मांग
सुकन्या समृद्धि योजना के धन में गड़बड़ी की लगातार शिकायत के बाद अधिकारियों ने बलिया डाक अधीक्षक को पत्र भेजकर जांच का निर्देश दिया। मनीषा तिवारी ने आरोप लगाया कि डाक अधीक्षक ने गांव में मामले में संलिप्त कर्मचारियों को ही भेजकर जांच करा रहे हैं। गांव के खाताधारकों ने बलिया के बाहर की विजिलेंस टीम व सीबीआई से जांच कराने व रूपया वापस दिलाने की मांग किया है ।

प्रथम जांच में मिली है गड़बड़ी
बलिया मण्डल के डाकघर अधीक्षक ने शिकायतकर्ताओं को दो पत्र भेजकर प्रथम दृष्टया खातो में गड़बड़ी प्रतीत होना बताया गया हैं। मनीपा तिवारी को 22 जुलाई व राजेन्द्र तिवारी को 17 अक्टूबर को पत्र भेजकर कमेटी द्वारा गहनता से जांच कराने तथा नियमानुसार कार्रवाई करने की जानकारी दी हैं।

BY- AMIT KUMAR

[MORE_ADVERTISE1]