स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अखिलेश यादव को तगड़ा झटका, सपा के इस दिग्गज नेता ने थामा बीजेपी का दामन

Sarweshwari Mishra

Publish: Jul 27, 2019 13:15 PM | Updated: Jul 27, 2019 13:15 PM

Ballia

इस वजह से सपा से नाराज चल रहे थे नीरज शेखर

बलिया. सपा पार्टी से राज्यसभा सांसद व पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के पुत्र नीरज शेखर भाजपा में शामिल हो गए। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र सिंह ने उन्हें पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई है। बीजेपी में शामिल होने के बाद नीरज शेखर ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताता हूं कि मुझे भाजपा में शामिल किया गया। उन्होंने कहा कि मुझे भाजपा में लाने में पियूष गोयल व भूपेंद्र यादव ने बड़ी भूमिका निभाई है। उन्होंने यह भी कहा कि मैं भाजपा की नीतियों को आगे बढ़ाने का काम करुंगा। नीरज शेखर ने कहा कि देश में मोदी जी औऱ प्रदेश में योगी जी के साथ काम करने का मुझे मौका मिला है। नीरज शेखर ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को मिले जनसमर्थन के बाद अब उन्हें किसी की आवश्यकता नहीं थी लेकन मैं उनसे प्रभावित हुआ और अब भाजपा की सदस्यता ले रहा हूं।


अखिलेश यादव से था मनमुटाव
लोकसभा चुनाव में मिली हार और बसपा द्वारा गठबंधन तोड़े जाने के बाद पूर्वांचल की राजनीति में महत्तवपूर्ण स्थान रखने वाले नीरज शेखर का इस्तीफ़ा सपा के लिए बड़ा झटका हुआ है। भले ही नीरज शेखर इस्तीफ़ा देकर आधिकारिक तौर पर सपा से अब अलग हुए हैं पर उनके इस्तीफे की पटकथा लोकसभा चुनावों के दौरान ही लिखी जा चुकी थी। लोकसभा चुनाव के दौरान नीरज शेखर अपनी परंपरागत बलिया संसदीय सीट से चुनाव लड़ना चाहते थे, इसके लिए उन्होंने टिकट की मांग की थी। पार्टी नेतृत्व ने उन्हें आश्वस्त भी किया था, लेकिन आखिरी में उनकी जगह सदानंद पांडेय को बलिया से उम्मीदवार बनाया गया। इसके बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव से उनकी नाराजगी की ख़बरें आने लगी थी। आजमगढ़ से जीतकर आए पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव से उनकी एक भी मुलाकात नहीं हुई। यहाँ तक कि संसद परिसर में दोनों के बीच दुआ सलाम भी बंद हो गई थी।