स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बाढ़ से भारी तबाही, रेस्क्यू ऑपरेशन सीएम बाढ़ इलाके का किया हवाई सर्वेक्षण, कटान क्षेत्र में बांटे राहत सामग्री

Ashish Kumar Shukla

Publish: Sep 17, 2019 22:07 PM | Updated: Sep 17, 2019 22:07 PM

Ballia

बाढ़ की वजह से 10 फीट धंसा अप्रोच मार्ग, दर्जनों गांव का संपर्क टूटा

बलिया. यूपी के पूर्वांचल में गंगा नदी के जलस्तर में हो रही लगातार बढ़ोतरी ने जनजीवन को अस्त व्यस्त कर दिया है । प्रयागराज, मिर्जापुर, वाराणसी चंदौली, गाजीपुर, बलिया समेत पूर्वी यूपी के जिलों में गंगा का पानी से हाहाकार की स्थिति बन गई है। हाहाकार के बाद खुद सीएम योगी ने मंगलवार को बलिया में बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे किया। मुख्यमंत्री की बोट के जरिये लोगों से मिलने की योजना थी लेकिन मौसम खराब होने के कारण उन्होने हवाई सर्वेक्षण किया। हालांकि भारी कटान वाले इलाके में पहुंचे मुख्यमंत्री ने पीड़ितों के बीच राहत सामाग्री वितरित की।

कटान पीड़ितों से मिले सीएम

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार की शाम दयाछपरा पहुंचे और बाढ़ग्रस्त इलाकों का निरीक्षण किया। सीएम ने कटान पीड़ितों के बीच राहत सामाग्री वितरित की। उन्होंने दुबेछपरा रिंग बंधे के कटने के कारणों की भी जानकारी ली। मुख्‍यमंत्री ने बाढ़ राहत में कोई लापरवाही न हो इसकी सख्‍त हिदायत अधिकारियों को दिया।

प्रयागराज में मांगी एअरफोर्स की मदद

प्रयागराज. संगम नगरी में गंगा. यमुना दोनों नदियों में आई बाढ़ ने हाहाकार मचा दिया है। एक बार फिर 1978 की भयावह बाढ़ जैसे हालात की आशंका बन गई है। इससे निपटने के लिए सेना से सहयोग का फैसला किया गय़ा है। साथ की एनडीआरएफ की कई अन्य टीमें भी बढ़ाये जाने की बात कही जा रही है। रेस्क्यू आपरेशन के जरिये अब तक एक हजार से अधिक लोगों को बाढ़ से बाहर निकाला गया है। पानी का जलस्तर फाफामऊ 84 .74 छतनाग 83.98 नैनी 84.55 मीटर है।