स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नसीमुद्दीन के निष्कासन के बाद मायावती को बड़ा झटका, इस कद्दावर मुस्लिम नेता ने दिया इस्तीफा

Ahkhilesh Tripathi

Publish: May 10, 2017 12:23 PM | Updated: May 10, 2017 12:23 PM

Ballia

कहा-  बसपा सुप्रीमो मायावती का यह फैसला तानाशाही

बलिया. नसीमुद्दीन और उनके बेटे के बसपा के निष्कासन के बाद पार्टी में विरोध के स्वर तेज हो गये हैं। नसीमुद्दीन के समर्थन में आजमगढ़ जोन कोर्डिनेटर शेख अहमद अली उर्फ संजय भाई ने अपने सभी पदों से इस्तीफा दे दिया और मायावती के फैसले को तानाशाही करार दिया।

शेख अहमद अली ने कहा कि बसपा सुप्रीमो मायावती का यह तानाशाही फैसला है, जिसके विरोध मे वह पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे रहे हैं।


यह भी पढ़ें: ...तो इसलिए नसीमुद्दीन सिद्दीकी को निकाला गया पार्टी से बाहर

बता दें कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी के दिग्गज नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनके बेटे को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। उन पर चुनाव के दौरान पैसे लेने और पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का गंभीर आरोप है।

बहुजन समाज पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्होंने चुनाव के दौरान लोगों से पैसा लिया था। उन्होंने अपनी जिम्मेदारी का पूरी तरह से निर्वहन नहीं किया। पार्टी गतिविधियों में शामिल होने के कारण नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनके बेटे अफजल सिद्दीकी को बसपा से बाहर किया गया है।