स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हर-हर महावेद के जयकारों से गुंजयमान हुआ शहर

Mukesh Yadav

Publish: Aug 11, 2019 21:26 PM | Updated: Aug 11, 2019 21:26 PM

Balaghat

एक हजार से अधिक संख्या में कावडिय़ों की निकाली गई शोभायात्रा
डीजे धुन पर नाचते भक्त व भगवान भोलेनाथ की झांकी रही आकर्षण का केन्द्र
डोंगरगांव गुप्तेश्वर महादेव को आज किया जाएगा जलाभिषेक


बालाघाट. प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी सावन मास के अवसर पर बब्बर सेना व महाकाल सेना द्वारा ११ अगस्त को धूमधाम से विशाल कांवड़ यात्रा निकाली गई। कांवड़ यात्रा वैनगंगा नदी शंकरघाट से जल लेकर शंकरघाट स्थित शंकर मंदिर से निकली। जो डीजे की मधुर धुनों के साथ बम बम भोले, हर-हर महादेव के जयघोष के साथ नगर के जयस्तंभ चौक, कालीपुतली चौक, गुजरी चौक, महावीर चौक से होते हुए हनुमान चौक पहुंची। जहां कश्मीर की आजादी की खुशी में १०८ दीप प्रज्जवलित कर भोलेनाथ से कश्मीर सहित पूरे देश में अमन व शांति की दुआएं की गई। इस दौरान पूरा शहर भोलेनाथ के जयकारों से गुंजयमान हो गया। वहीं यात्रा में शामिल भगवान भोलेनाथ की जीवंत झांकी मुख्य आकर्षण का केन्द्र रही।
इस कांवड़ यात्रा में प्रमुख रूप से बब्बर सेना प्रमुख डाली दमाहे, संयोग कोचर, विजय कोठारी सहित सैकड़ों की संख्या में कांवडिय़ा शामिल रहे। कांवड़ यात्रा हनुमान चौक से प्रस्थान कर सरेखा चौक होते हुए कोसमी चौक, नवेगांव, नैतरा, लिंगा होते हुए शाम के समय हट्टा पहुंची जहां कांवडिय़ों द्वारा भोजन कर रात्रि विश्राम किया गया। दूसरे दिन सोमवार की सुबह ६ बजे कांवडिय़ां डोंगरगांव धाम पहाड़ी स्थित मंदिर में गुप्तेश्वर महादेव के लिए प्रस्थान करेंगे। जो मंदिर पहुंच गुप्तेश्वर महादेव का ेजलाभिषेक कर पूजा अर्चना कर वापस लौटेंगे।