स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्रदेश सरकार की नाकामियों पर जमकर गरजे भाजपाई

Mukesh Yadav

Publish: Sep 20, 2019 21:17 PM | Updated: Sep 20, 2019 21:17 PM

Balaghat

कांग्रेस ने नहीं निभाया वचन, किसान परेशान
बस स्टैंड में दिया धरना, बिजली बिलो की जलाई होली
राज्यपाल के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन


बालाघाट। प्रदेश की कांग्रेस सरकार की नाकामियों को लेकर प्रदेश आह्वान पर जिले में भी भाजपा ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। शहर के बस स्टैंड स्थित कचहरी मैदान में बड़ी संख्या में भाजपाई एकत्रित हुए। यहां उन्होंने विधानसभा स्तरीय एक दिवसीय धरना दिया। इसके बाद अनाप शनाप आने वाले बिजली बिलो की होली जलाकर सरकार का विरोध प्रदर्शन किया। अंत में प्रदेश के राज्यपाल के नाम संबोधित ज्ञापित एसडीएम को सौंपा गया।
धरना आंदोलन में भाजपाई ने कहा कि मप्र में हालही में अतिवर्षा से भारी तबाही हुई है। प्रदेश की कांग्रेस सरकार आपदा प्रबंधन नहीं कर पाई है और न ही सरकार की ओर से नागरिकों को कोई मदद मिल पाई है। कांग्रेस ने अपने वचन पत्र के वचनों को भी नहीं निभाया है। प्रदेश की जनता एवं किसान समस्याओं से जूझकर परेशान हो रहे हैं।
बढ़ाया जाए धान का समर्थन मूल्य
ज्ञापन में प्रदेश की कांग्रेस सरकार से मांग की गई है कि अतिवृष्टि से बर्बाद हुई फसल के मुआवजे तौर पर प्रति हेक्टर 45 हजार रुपए दिया जाए। फसल बीमा दिलाने की कार्रवाई हो। कर्ज माफी का वचन निभाए। कर्ज माफी के लिए प्रतिक्षारत किसानों को फसल बीमा का मिले लाभ। समस्त अधिसूचित फसलों की खरीदी हो। मंडियों में किसानों को नकद भुगतान कराए। भावांतर राशि दी जाए, फसलों पर बोनस, कृषि के लिए 12 घंटे बिजली, गेंहू बीज पर अुनदान, धान का सर्मथन मूल्य 25 सौ प्रति क्विंटल किया जाए। प्रत्येक पंचायत में गौशाला व बंद की गई पेंशन योजना को पुन: चालु किया जाए।
यह रहे धरने में शामिल
धरना प्रदर्शन में प्रमुख रूप से भाजपा नेता राजकुमार रायजादा, नपा अध्यक्ष अनिल धुवारे, सुनिल खटोले, दिलीप चौरसिया, सत्यनारायण अग्रवाल, सुधिर चिले, नगर अध्यक्ष सुरजित सिंह ठाकुर, हेमेन्द्र क्षीरसागर, सुधीर चौधरी, यशवंत लिल्हारे, राजेन्द्र चौधरी, जितेन्द्र चौधरी, मनोज पारधी, राज हरिनखेरे, राकेश सेवईवार, राजेश भाई चावड़ा, विजय बिसेन, रमाकांत डहाके, खिमेन्द्र गौतम, वकील वाधवा, देवेन्द्र बिसेन और करण बिसेन सहित अन्य भाजपा कार्यकार्ताओं और पदाधिकारी शामिल रहे।