स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सवा माह बाद ही खुली मरम्मत कार्य की पोल

Mukesh Yadav

Publish: Aug 21, 2019 20:47 PM | Updated: Aug 21, 2019 20:47 PM

Balaghat

पुन: क्षतिग्रस्त हुआ हरदोली का पुलिया
जुलाई के महीने में बह गई थी पुलिया, कलेक्टर ने करवाई थी मरम्मत-

कटंगी/बोनकट्टा. मुख्यालय से 28 किमी. दूर बोनकट्टा से हरदोली-मोवाड़ मुख्य मार्ग पर निर्मित पुलिया एक बार फिर से क्षतिग्रस्त हो गया है। इसी साल जुलाई के महीने में तेज बारिश की वजह से पुलिया का एक बड़ा हिस्सा पानी में बह गया था। जिससे आवागमन पूरी तरह से ठप्प हो गया था। इसके बाद कलेक्टर ने मौके का निरीक्षण कर पुलिया की मरम्मत करवाई थी। लेकिन यह मरम्मत कार्य भी ज्यादा दिनों तक टिक नहीं पाया। मरम्मत के सवा महीने बाद ही पुलिया फिर से बीती रात क्षतिग्रस्त हो गई है। ग्रामीणों के मुताबिक इस बार पुलिया का बड़ा हिस्सा कट गया है। अगर शीघ्र ही मरम्मत या नवनिर्माण नहीं किया गया तो बड़ा हादसा हो सकता है।
गौरतलब हो कि भारी वाहनों की आवाजाही से उक्त पुलिया काफी वर्षो पहले ही कमजोर हो चुका है। जिसके निर्माण की काफी लंबे समय से मांग की जा रही है। लेकिन जिम्मेदार अफसर और नेता इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।
जानकारी अनुसार इस पुलिया के क्षतिग्रस्त होने से पुलपुट्टा, चंद्रकुआ, छतेरा, चिचोली, मोवाड़, भजियादड़, कटोरी, फुलचुर के ग्रामीणों को आवागमन में परेशानी हो रही है। हालाकिं अभी इस मार्ग पर छोटे वाहनों की आवाजाही जारी है। लेकिन अगर पुलिया की मरम्मत नहीं की गई तो यह पुलिया कभी भी जमींदोज हो सकता है, जिससे आवागमन पूरी तरह से बंद हो सकता है। ज्ञात हो कि कलेक्टर के निर्देशन पर इस पुलिया की मरम्मत की गई थी। लेकिन आज पुलिया का हिस्सा पानी में बह गया तो मरम्मत के नाम पर की गई खानापूर्ति भी सामने आ गई।
नहीं पहुंचे जिम्मेदार
जानकारी के अनुसार इस क्षेत्र में बहुत ही कम वर्षा हुई है मगर, इसके बावजूद इस पुलिया का बह जाना कई सवालों को जन्म देता है। फिलहाल इस पुलिया के क्षतिग्रस्त होने से सर्वाधिक दिक्कत स्कूली छात्र-छात्रओं को झेलनी पड़ रही है। हालाकिं अभी जैसे-तैसे आवागमन तो जारी है। मगर, रात में बारिश होती है, तो कहना मुश्किल है कि पुलिया अपनी स्थान पर बना रहेगा या नहीं? ग्रामीणों ने बताया कि पुलिया के क्षतिग्रस्त होने की सूचना प्रशासन तक पहुंचा दी गई है। लेकिन अब तक प्रशासन के किसी अधिकारी ने झांक कर नहीं देखा है।
वर्सन
हम इस मामले की जानकारी लेकर आवश्यक दिशा निर्देश देंगे। बजट के हिसाब से काम करवाया जाएगा।
दीपक आर्य, कलेक्टर