स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सड़क पर शव रखकर तीन घंटे तक किया प्रदर्शन

Mukesh Yadav

Publish: Aug 12, 2019 21:02 PM | Updated: Aug 12, 2019 21:02 PM

Balaghat

मौत पर भड़का जनाक्रोश
विधायक व एसडीएम के आश्वासन पर माने बंजारा समाज के लोग
बिरसा थाना क्षेत्र के दमोह ग्राम का मामला
एक दिन पूर्व जेल में निरूद्ध युवक की उपचार के दौरान मौत होने का मामला

बालाघाट. जिले की बैहर जेल से जबलपुर मेडिकल कॉलेज रेफर किए गए एक युवक की ११ अगस्त को उपचार के दौरान मौत हो गई थी। खबर लगने के बाद जनाक्रोश भड़क उठा। सोमवार को बंजारा समाज के लोगों ने जिले के बिरसा दमोह के मुख्य मार्ग पर करीब तीन घंटे सड़क पर शव रखकर प्रदर्शन किया। मौके पर पहुंचे विधायक संजय उइके, एसडीएम सहित अन्य अधिकारियों की समझाईश दी। इसके बाद बंजारा समाज के लोगों ने प्रदर्शन को विराम दिया।
जानकारी के अनुसार दमोह निवासी मृतक युवक गुलाब पिता घंसु पौसार (२०) वर्ष २०१६ में एक नाबालिग बच्ची से छेड़छाड़ के आरोप में बैहर उपजेल में विचाराधीर बंदी के रूप में बंद था। १० अगस्त को अधिक तबियत खराब होने पर बैहर के जेलर ने परिजनों को बिना सूचना दिए गुलाब को मेडिकल कॉलेज जबलपुर रेफर किया था। इस दौरान ११ अगस्त को गुलाब की उपचार के दौरान मौत हो गई। मामले की जानकारी परिजनों और बंजारा समाज के लोगों को लेकर लगने पर उन्होंने शव लाकर सोमवार को विभिन्न मांगों को लेकर सड़क पर प्रदर्शन किया। इस दौरान सुरक्षा के लिहाज से पुलिस बल भी मौके पर उपस्थित रहा। हालाकि सड़क मार्ग से आवागमन सुचारू रूप से चलते रहा।
इन मांगों को लेकर प्रदर्शन
बंजारा समाज के प्रदेश उपाध्यक्ष कुंवर सिंह लाखा के नेतृत्व में मृतक के छोटे भाई महेश बंजारा, मॉ कलाबाई सहित आधा सैकड़ा से अधिक सामाजिक लोगों व ग्रामीणों ने सोमवार सुबह ०९ बजे से सड़क पर शव रखकर प्रदर्शन किया। इस दौरान परिजनों ने जेलर को हटाने व उसके खिलाफ कार्रवाई किए जाने तथा मुआवजे की मांग की। करीब १२ बजे मौके पर विधायक संजय उइके, एसडीएम चंद्रप्रताप गोहल, एएसपी श्याम कुमार मेरावी, तहसीदार व बिरसा व मलाजखंड थाना प्रभारी पुलिस बल के साथ पहुंचे। यहां विधायक ने तत्काल २५ हजार रुपए की सहायता राशि परिजनों को प्रदान की। वहीं एसडीएम व एएसपी ने मामले की न्यायिक जांच करवाए जाने का आश्वासन दिया। इसके बाद धरना प्रदर्शन को विराम दिया गया।
वर्सन
सुरक्षा के लिहाज से मौके पर पुलिस बल तैनात किया गया था। हालाकि माहौल खराब होने जैसी स्थिति निर्मित नहीं हुई। मामले की जांच करवाई जाएगी।
एसके मरावी, एएसपी बैहर

न्यायिक जांच के लिए हमने आग्रह किया है। जांच में जो भी सामने आएगा उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
चंद्रप्रताप गोहल, एसडीएम बैहर