स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नाकतोड़े ने बढ़ाया जिले का गौरव, राज्यपाल पुरस्कार से सम्मानित

Mahesh Kumar Doune

Publish: Sep 16, 2019 19:18 PM | Updated: Sep 16, 2019 19:18 PM

Balaghat

लांजी क्षेत्र के ग्राम महाजनटोला टेंडवा निवासी नेतराम नाकतोड़े को राज्यपाल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

बालाघाट. लांजी क्षेत्र के ग्राम महाजनटोला टेंडवा निवासी नेतराम नाकतोड़े को राज्यपाल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। वर्तमान में नाकतोड़े केन्द्रीय जेल रायपुर में वरिष्ठ जेल शिक्षक के पद पर कार्यरत है। जिन्हें स्कूल शिक्षा विभाग 2018-19 राज्य स्तरीय शिक्षा पुरस्कार प्रदान किया गया। जो जेल इतिहास में पहली बार नाकतोड़े को राज्यपाल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। जिन्होंने क्षेत्र के साथ ही छत्तीसगढ़ राज्य में जिले का नाम भी रोशन किया है। राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान उन शिक्षकों को दिया जाता है जिन्होंने अपनी प्रतिबद्धता और समर्पण के द्वारा शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करने के साथ उसे समृद्ध भी किया है।
गौरतलब हो कि जिले के लांजी जनपद अंतर्गत शासकीय प्राथमिक स्कूल कोचेवाही व बेनेगांव में वर्ष 1995 से 2004 तक नाकतोड़े शिक्षक के रूप में कार्यरत रहे। लेकिन वर्ष 2004 में मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ राज्य का बंटवारा होने पर वे छत्तीसगढ़ राज्य में स्थानांतरित हो गए। वर्तमान में वे केन्द्र्रीय जेल रायपुर में वरिष्ठ जेल शिक्षक पद पर कार्यरत है। जिन्हें शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए राज्यपाल अनुसुईया उइके के द्वारा राज्यसभा भवन में आयोजित भव्य समारोह में पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। इस दौरान छत्तीसगढ़ राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसहाय टेकाम, प्रमुख सचिव शिक्षा विभाग गौरव द्विवेदी उपस्थित रहे। शिक्षक नाकतोड़े को राज्यपाल पुरस्कार से सम्मानित होने पर डीआईजी डॉ. केके गुप्ता ने समस्त जेल प्रशासन की ओर से व कुनबी समाज रायपुर के अध्यक्ष रामेश्वर नाकतोड़े सहित अन्य पदाधिकारियों ने बधाई दी। वहीं जिले व क्षेत्र का नाम रोशन करने पर उन्हें क्षेत्रवासियों द्वारा हर्ष व्यक्त कर बधाई दी है।