स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

तेंदुए ने किया गाय का शिकार

Bhaneshwar Sakure

Publish: Sep 20, 2019 21:42 PM | Updated: Sep 20, 2019 21:42 PM

Balaghat

15 दिनों से अपने 2 शावकों के साथ जंगलों में घूम रही मादा तेंदुआ

बालाघाट. वारासिवनी वन परिक्षेत्र वारासिवनी के नांदगांव के बांस के जंगल में चरने गई गाय का तेंदुए ने शिकार कर लिया। जिसके कारण नांदगांव सहित समीपस्थ गांवों के ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है।
ग्रामीण प्रहलाद बिसेन ने बताया कि बोटेझरी निवासी दामोदर भैरम की गिरनस्ल की गर्भवती गाय हर दिन की तरह अन्य मवेशियों के साथ गुरुवार को चरने के लिए जंगई गई थी। लेकिन शाम को वह वापस नहीं लौटी जिसकी मवेशी चराने वाले के साथ शाम को खोजबीन की गई। लेकिन गाय नहीं मिली। जिसके चलते शुक्रवार को फिर से गाय को खोजा गया। ग्रामीणों को नांदगांव के बांस के जंगल में गाय मृत हालत में दिखी। जिसका मांस तेंदुए के दो शावक खा रहे थे। इसकी सूचना गांव के अन्य ग्रामीणों को दी गई। जिसके बाद गांव के अन्य ग्रामीण भी मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों को देखकर मादा तेंदुआ अपने शावकों के साथ जंगल में चली गई। इधर, घटना की सूचना मिलते ही परिक्षेत्र अधिकारी डीसी वासनिक अपने अमले साथ मौके पर पहुंचे। सर्चिंग की और मृत गाय का पंचनामा कार्रवाई की। बताया जाता हैं कि मृत गाय की कीमत करीब 60 हजार रुपए है।
परिक्षेत्र अधिकारी वासनिक ने बताया कि उक्त मादा तेंदुआ बीते 15 दिनों से इस क्षेत्र में अपने दो शावकों के साथ विचरण कर रही हैं। उसकी हर गतिविधियों पर नजर रखी जा रही हैं। उन्होंने ग्रामीणों से अपील की हैं वे शाम होने के पूर्व ही अपने मवेशियों को चारागाह से वापस ला ले। जंगल की ओर जाते समय सावधानी बरतने की अपील की हैं। उन्होंने बताया मृत गाय के मालिक को शीघ्र उचित मुआवजा शासन से दिलाने के लिए ग्राम पंचायत से प्रमाणीकरण करवा कर शासन को भेजा जाएगा